विधायक देशराज कर्णवाल और पूर्व दर्जा प्राप्त मंत्री सहित यूपी सरकार ने लिए मुक़दमे वापस

 लखनऊ l उत्तराखंड के झबरेडा विधायक व पूर्व दर्जा राज्य मंत्री समेत नौ के खिलाफ दर्ज मुकदमे को यूपी सरकार ने वापसी के आदेश दिए हैं। उत्तराखंड के झबरेडा विधायक देशराज कर्णवाल और सहारनपुर के पूर्व दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री विनोद तेजियान को 2011 में नौकरी में आरक्षण को बहाल करने को लेकर रेल रोकने के आरोप में अभियुक्त बनाया था। 


जीपीओ रोड स्थित एक सभागार में पत्रकार वार्ता में विधायक देशराज कर्णवाल ने कहा कि अनुसूचित जाति का 2011 में पदोन्नति में आरक्षण खत्म कर दिया गया था। पदोन्नति में आरक्षण खत्म होने के विरोध में 30 जनवरी 2011 को सहारनपुर में आयोजित सभा में लोग जुटे थे। जब आंदोलनकारी डीएम को ज्ञापन देने जा रहे कुछ लोग लाइन पार कर रहे थे, लेकिन राजनीति षड्यंत्र के तहत रेल रोकने के आरोप में मुकदमे दर्ज करा दिए गए थे।

मुकदमे में पूर्व दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री विनोद तेजियान, पूर्व इंजनीनियर आरपी सिंह, कर्ताराम, सतेंद्र कुमार, वैजयंति माला, धनपान वाल्मिकी, ब्रजपाल सिंह, संजय तेगवाल, सिलचंद बौद्ध थे। इसके अलावा कस्तूरी गौतम, महिपालदास, प्रविंद्र धारिया, रमेश चंद गेहरा, सुरेद्र सिंह सेतू सामाजिक कार्यकर्ताओं समेत 500 अज्ञात के खिलाफ मुकदमे दर्ज किए गए थे। भाजपा सरकार ने मुकदमों को राजनैतिक षड्यंत्र मानते हुए ऐतिहासिक निर्णय लिया है और मुकदमे वापस करने के आदेश दिए है।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा