यूपी के सुरा प्रेमियों के लिए खुशखबरी


 लखनऊ । सुरा प्रेमियों के लिए खुशखबरी है। उत्तरप्रदेश में शराब महंगी नहीं होगी। 

उत्‍तर प्रदेश सरकार ने अगले वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए आबकारी नीति शुक्रवार को मंजूर कर दी। शुक्रवार को कैबिनेट बाई सर्कुलेशन के जरिये इस नयी आबकारी नीति को मंजूरी दी गई। पिछले वर्षों की ही तरह अगले वित्तीय वर्ष में लिए भी शराब व बीयर की दुकानों के लाइसेंस का नवीनीकरण किया जाएगा। नवीनीकरण की प्रक्रिया में भी कोरोना की वजह से आई दिक्कतों को देखते हुए मौजूदा लाइसेंसी विक्रेताओं के लिए पूर्व में तय मानक भी शिथिल किये गये हैं। नवीनीकरण के बाद जो दुकानें बच जाएंगी उनके लिए लाटरी ड्रा करवाया जाएगा।

कोरोना संकट की वजह से उपजी वित्तीय विषमताओं को देखते हुए शराब व बीयर के लाइसेंसी विक्रेताओं और पीने के शौकीनों पर ज्यादा वित्तीय बोझ न पड़े इसके लिए लाइसेंस शुल्क व आबकारी शुल्क में बहुत ज्यादा बढ़ोत्तरी नहीं की गई है। चालू वित्तीय वर्ष में आबकारी मद से 37,500 करोड़ रुपये की राजस्व वसूली का लक्ष्य तय किया गया था। मगर कोरोना की वजह से इस वित्तीय वर्ष में लगभग 30 हजार करोड़ रुपये का राजस्व बमुश्किल मिलने का आंकलन किया गया है।

पीने के शौकीन लोगों को बगैर मिलावट वाली गुणवत्तापरक और सही दाम पर शराब व बीयर उपलब्ध हो सके इसके लिए अगले वित्तीय वर्ष से दुकानों पर पीओएस मशीनें लगाई जाएंगी। इन मशीनों से शराब व बीयर की बोतलों व केन आदि पर अंकित बार कोड को स्कैन कर यह पता लगाया जा सकेगा कि उक्त शराब व बीयर किस फैक्ट्री की बनी है, बोतल में कब भरी गई और इसका एमआरपी क्या है।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा