आज का पंचांग एवँ राशिफल 12जनवरी 2021

 विज्ञापन 



🌞 ~ *आज का हिन्दू पंचांग* ~ 🌞

⛅ *दिनांक  12जनवरी 2021*

⛅ *दिन - मंगलवार*

⛅ *विक्रम संवत - 2077*

⛅ *शक संवत - 1942*

⛅ *अयन - दक्षिणायन*

⛅ *ऋतु - शिशिर*

⛅ *मास - पौष (गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार - मार्गशीर्ष)*

⛅ *पक्ष - कृष्ण* 

⛅ *तिथि - चतुर्दशी दोपहर 12:22 तक तत्पश्चात अमावस्या*

⛅ *नक्षत्र - मूल सुबह 07:38 तक तत्पश्चात पूर्वाषाढा*

⛅ *योग - व्याघात 13 जनवरी रात्रि 02:48 तक तत्पश्चात हर्षण*

⛅ *राहुकाल - शाम 03:31 से शाम 04:54 तक*

⛅ *सूर्योदय - 07:19* 

⛅ *सूर्यास्त - 18:14* 

⛅ *दिशाशूल - उत्तर दिशा में*

⛅ *व्रत पर्व विवरण - दर्श अमावस्या, राष्ट्रीय युवा दिवस*

 💥 *विशेष - चतुर्दशी और अमावस्या के दिन ब्रह्मचर्य पालन करे तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)*

               🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞


🌷 *मकर संक्रांति* 🌷

🙏🏻 *आत्मोद्धारक व जीवन-पथ प्रकाशक पर्व – मकर संक्रांति (14 जनवरी 2021 गुरुवार को पुण्यकाल सुबह 08:16 से शाम 04:16 तक )*


🌞 *जिस दिन भगवान सूर्यनारायण उत्तर दिशा की तरफ प्रयाण करते हैं, उस दिन उतरायण (मकर संक्रांति) का पर्व मनाया जाता है | इस दिन से अंधकारमयी रात्रि कम होती जाती है और प्रकाशमय दिवस बढ़ता जाता है | उत्तरायण का वाच्यार्थ है कि सूर्य उत्तर की तरफ, लक्ष्यार्थ है आकाश के देवता की कृपा से ह्दय में भी अनासक्ति करनी है | नीचे के केन्द्रों में वासनाएँ, आकर्षण होता है व ऊपर के केन्द्रों में निष्कामता, प्रीति और आनंद होता है | संक्रांति रास्ता बदलने की सम्यक सुव्यवस्था है | इस दिन आप सोच व कर्म की दिशा बदलें | जैसी सोच होगी वैसा विचार होगा, जैसा विचार होगा वैसा कर्म होगा | हाड-मांस के शरीर को सुविधाएँ दे के विकार भोगकर सुखी होने की पाश्चात्य सोच है और हाड-मांस के शरीर को संयत, जितेन्द्रिय रखकर सदभाव से विकट परिस्थितियों में भी सामनेवाले का मंगल चाहते हुए उसका मंगलमय स्वभाव प्रकट करना यह भारतीय सोच है |*

*सम्यक क्रांति.... ऐसे तो हर महिने संक्रांति आती है लेकिन मकर संक्रांति साल में एक बार आती है | उसीका इंतजार किया था भीष्म पितामह ने | उन्होंने उत्तरायण काल शुरू होने के बाद ही देह त्यागी थी |*

*पुण्यपुंज व आरोग्यता अर्जन का दिन*

🌞 *जो संक्रांति के दिन स्नान नहीं करता वह ७ जन्मों तक निर्धन और रोगी रहता है और जो संक्रांति का स्नान कर लेता है वह तेजस्वी और पुण्यात्मा हो जाता है | संक्रांति के दिन उबटन लगाये, जिसमे काले तिल का उपयोग हो |*

🌞 *भगवान सूर्य को भी तिलमिश्रित जल से अर्घ्य दें | इस दिन तिल का दान पापनाश करता है, तिल का भोजन आरोग्य देता है, तिल का हवन पुण्य देता है | पानी में भी थोड़े तिल डाल के पियें तो स्वास्थ्यलाभ होता है | तिल का उबटन भी आरोग्यप्रद होता है | इस दिन सुर्योद्रय से पूर्व स्नान करने से १० हजार गौदान करने का फल होता है | जो भी पुण्यकर्म उत्तरायण के दिन करते हैं वे अक्षय पुण्यदायी होते हैं | तिल और गुड के व्यंजन, चावल और चने की दाल की खिचड़ी आदि ऋतु-परिवर्तनजन्य रोगों से रक्षा करती है | तिलमिश्रित जल से स्नान आदि से भी ऋतु-परिवर्तन के प्रभाव से जो भी रोग-शोक होते हैं, उनसे आदमी भिड़ने में सफल होता है |*

🌞 *सूर्यदेव की विशेष प्रसन्नता हेतु मंत्र*

*ब्रम्हज्ञान सबसे पहले भगवान सूर्य को मिला था | उनके बाद रजा मनु को, यमराज को.... ऐसी परम्परा चली | भास्कर आत्मज्ञानी हैं, पक्के ब्रम्ह्वेत्ता हैं | बड़े निष्कलंक व निष्काम हैं | कर्तव्यनिष्ठ होने में और निष्कामता में भगवान सूर्य की बराबरी कौन कर सकता है ! कुछ भी लेना नहीं, न किसी से राग है न द्वेष है | अपनी सत्ता-समानता में प्रकाश बरसाते रहते हैं, देते रहते हैं |*

🌞 *‘पद्म पुराण’ में सूर्यदेवता का मूल मंत्र है : ॐ ह्रां ह्रीं स: सूर्याय नम: | अगर इस सूर्य मंत्र का ‘आत्मप्रीति व आत्मानंद की प्राप्ति हो’ – इस हेतु से भगवान भास्कर का प्रीतिपूर्वक चिंतन करते हुए जप करते हैं तो खूब प्रभु-प्यार बढेगा, आनंद बढेगा |*

🌞 *ओज-तेज-बल का स्त्रोत : सूर्यनमस्कार*

*सूर्यनमस्कार करने से ओज-तेज और बुद्धि की बढ़ोत्तरी होती है | ॐ सूर्याय नम: | ॐ भानवे नम: | ॐ खगाय नम: ॐ रवये नम: ॐ अर्काय नम: |..... आदि मंत्रो से सूर्यनमस्कार करने से आदमी ओजस्वी-तेजस्वी व बलवान बनता है | इसमें प्राणायाम भी हो जाता है, कसरत भी हो जाती है |*

*सूर्य की उपासना करने से, अर्घ्य देने से, सूर्यस्नान व सूर्य-ध्यान आदि करने से कामनापूर्ति होती है | सूर्य का ध्यान भ्रूमध्य में करने से बुद्धि बढती है और नाभि-केंद्र में करने से मन्दाग्नि दूर होती है, आरोग्य का विकास होता है |*

🌞 *आरोग्य व पुष्टि वर्धक : सूर्यस्नान*

*सूर्य की धूप में जो खाद्य पदार्थ, जैसे-घी, तेल आदि २ – ४ घंटे रखा रहे तो अधिक सुपाच्य हो जाता है | धूप में रखे हुए पानी से कभी –कभी स्नान कर सकते हैं | इससे सूखा रोग (Rickets) नहीं होता और रोगनाशिनी शक्ति बरक़रार रहती है |*

🌞 *सूर्य की किरणों से रोग दूर करने की प्रशंसा ‘अथर्ववेद’ में भी आती है | कांड – १, सूक्त २२ के श्लोकों में सूर्य की किरणों का वर्णन आता है |*

*मैं १५-२० मिनट सूर्यस्नान करता हूँ | लेटे–लेटे सूर्यस्नान करना और भी हितकारी होता है लेकिन सूर्य की कोमल धूप हो, सूर्योदय से एक-डेढ़ घंटे के अंदर-अंदर सूर्यस्नान कर लें | इससे मांसपेशियाँ तंदुरस्त होती हैं, स्नायुओं का दौर्बल्य दूर होता है | सूर्यस्नान का यह प्रसाद मुझे अनुभव होता है | मुझे स्नायुओं में दौर्बल्य नहीं है | स्नायु की दुर्बलता, शरीर में दुर्बलता, थकान व कमजोरी हो तो प्रतिदिन सूर्यस्नान करना चाहिए |*

🌞 *सूर्यस्नान से त्वचा के रोग भी दूर होते हैं, हड्डियाँ मजबूत होती हैं | रक्त में कैल्शियम, फ़ॉस्फोरस व लोहें की मात्राएँ बढती हैं, ग्रंथियों के स्त्रोतों में संतुलन होता है | सूर्यकिरणों से खून का दौरा तेज, नियमित व नियंत्रित चलता है | लाल रक्त कोशिकाएँ जाग्रत होती हैं, रक्त की वृद्धि होती है | गठिया, लकवा और आर्थराइटिस के रोग में भी लाभ होता है | रोगाणुओं का नाश होता है, मस्तिष्क के रोग, आलस्य, प्रमाद, अवसाद, ईर्ष्या-द्वेष आदि शांत होते हैं | मन स्थिर होने में भी सूर्य की किरणों का योगदान है | नियमित सूर्यस्नान से मन पर नियंत्रण, हार्मोन्स पर नियंत्रण और त्वचा व स्नायुओं में क्षमता, सहनशीलता की वृद्धि होती है |*

🌞 *नियमित सूर्यस्नान से दाँतों के रोग दूर होने लगते हैं | विटामिन ‘डी’ की कमी से होनेवाले सूखा रोग, संक्रामक रोग आदि भी सूर्यकिरणों से भगाये जा सकते हैं |*

🌞 *अत: आप भी खाद्य अन्नों को व स्नान के पानी को धूप में रखों तथा सूर्यस्नान का खूब लाभ लो |*

*दृढ़ संकल्पवान व साधना में उन्नत होने का दिन*

🌞 *उत्तरायण यह देवताओं का ब्राम्हमुहूर्त है तथा लौकिक व अध्यात्म विद्याओं की सिद्धि का काल है | तो मकर संक्रांति के पूर्व की रात्रि में सोते समय भावना करना कि ‘पंचभौतिक शरीर पंचभूतों में, मन, बुद्धि व अहंकार प्रकृति में लीन करके मैं परमात्मा में शांत हो रहा हूँ | और जैसे उत्तरायण के पर्व के दिन भगवान सूर्य दक्षिण से मुख मोडकर उत्तर की तरफ जायेंगे, ऐसे ही हम नीचे के केन्द्रों से मुख मोडकर ध्यान-भजन और समता के सूर्य की तरफ बढ़ेंगे | ॐ शांति .... ॐ आनंद .... ‘*

🌞 *रात को ‘ॐ सूर्याय नम: |’ इस मंत्र का चिंतन करके सोओगे तो सुबह उठते-उठते सूर्यनारायण का भ्रूमध्य में ध्यान भी सहज में कर पाओगे | उससे बुद्धि का विकास होगा |*

पंचक

15 जनवरी सायं 5.04 बजे से 20 जनवरी दोपहर 12.37 बजे तक

12 फरवरी रात्रि 2.11 बजे से 16 फरवरी रात्रि 8.55 बजे तक

30 बुधवार मार्गशीर्ष पूर्णिमा व्रत

जनवरी 2021: 

रविवार, 24 जनवरी 2021- पौष पुत्रदा एकादशी


रविवार, 07 फरवरी 2021- षटतिला एकादशी

प्रदोष व्रत


10 जनवरी: प्रदोष व्रत


26 जनवरी: भौम प्रदोष व्रत

पौष अमावस्या- बुधवार, 13 जनवरी 2021


दर्श अमावस्या, माघ अमावस्या- गुरुवार, 11 फरवरी 2021




मेष 

 आज भाग्य आपके साथ खड़ा नजर आ रहा है, इसलिए ज्यादा मेहनत की जरूरत नहीं पड़ेगी कम मेहनत में ही काम बनने शुरू हो जायेंगे। काम के सिलसिले में दिनमान बेहद मजबूत रहेगा। आपके काम की तारीफ भी होगी और आपको प्रोत्साहन भी मिलेगा। दांपत्य जीवन में थोड़ा तनाव रहेगा, लेकिन प्रेम जीवन बिता रहे लोग बहुत खुश नजर आएंगे। अपने प्रिय के साथ कहीं घूमने जाने की योजना बनाएंगे। सेहत भी बढ़िया रहेगी

वृष 

 आज का दिनमान आपके लिए उतार-चढ़ाव से भरा रहेगा। बेवजह के कुछ खर्चे होंगे, जिसकी आपने उम्मीद नहीं की थी। इससे आपकी थोड़ी टेंशन बढ़ सकती है। आप अपनी सुख-सुविधाओं को लेकर ज्यादा पजेसिव रहेंगे और उन पर खर्च करेंगे। आज आपका कोई पुराना छुपा हुआ राज बाहर आ सकता है। यदि आपने कभी टैक्स चोरी की थी, तो आज आपको उसका नोटिस मिल सकता है। दांपत्य जीवन उतार-चढ़ाव के बीच रहेगा। जीवनसाथी के व्यवहार को समझने में असुविधा होगी, लेकिन प्रेम जीवन बिता रहे लोग प्यार के सागर में डूबे रहेंगे

मिथुन 

ग्रहों की स्थिति मानसिक तनाव से बाहर निकलने की ओर इशारा करती है। आप अपने बिजनेस में पूरा ध्यान रखेंगे और अच्छा लाभ मिलेगा। सेहत थोड़ी सी कमजोर हो सकती है, इसलिए थोड़ा सावधानी रखें। काम के सिलसिले में दिनमान उतार-चढ़ाव से भरा रहेगा। नौकरी पेशा लोगों को सावधानी से काम करना होगा। कोई गड़बड़ ना हो जाए, इनकम में बढ़ोतरी रहेगी। दांपत्य जीवन में प्रेम रहेगा और रोमांस के अवसर मिलेंगे। प्रेम जीवन बिता रहे लोगों को उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है। 

कर्क 

ग्रहों की चाल आपको सतर्क कर रही है कि बेवजह के पैसे खर्च करने की आदत आपको मुसीबत में डाल सकती है। अपने खर्चे पर ध्यान दे। नहीं तो कर्जदार हो सकते हैं। नौकरी पेशा लोगों के लिए आज का दिन मेहनत से भरा रहेगा और आप खुश नजर आएंगे, जबकि बिजनेस कर रहे लोग अपने बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए कुछ नए लोगों से मुलाकात करेंगे। दांपत्य जीवन में भी खुशियां रहेंगी, लेकिन सेहत में गिरावट हो सकती है। प्रेम जीवन बिता रहे लोग अपने प्रिय के बर्ताव को समझने में नाकामयाब रहेंगे, जिससे मानसिक तनाव बढ़ेगा।

सिंह 

 आज ग्रहों का गोचर आपके पक्ष में हैं। प्रेम जीवन के लिए आज गोल्डन समय है। आज दिल में जो है, उनके सामने रख दें और प्रपोज करना चाहते हैं, तो बेस्ट रहेगा। आजकल खर्चे रहेंगे। विरोधियों पर आप भारी पड़ेंगे, लेकिन सेहत के मामले में दिन कमजोर है, इसलिए थोड़ा सावधान रहें। नौकरी में ट्रांसफर की संभावना बन सकती है। आप अपने काम को लेकर बहुत खुश रहेंगे और अपने प्रिय के लिए कोई बढ़िया सा गिफ्ट भी लाएंगे।

कन्या 

 आज का दिन आपके लिए अच्छा रहेगा। आप अपने परिवार के सुख सुविधाओं पर पूरा ध्यान देंगे। परिवार वालों के साथ हंसी-खुशी समय बिताएंगे। घर में एंटरटेनमेंट करेंगे। कहीं पिकनिक पर जाने की योजना बनाएंगे। सेहत अच्छी रहेगी। गृहस्थ जीवन भी खुशी से भरा रहेगा। प्रेम जीवन बिता रहे लोग भी आज के दिन को पूरी तरह से इंजॉय करेंगे और अपने प्रिय के रंग में रंगे नजर आएंगे। काम के सिलसिले में दिन उतार-चढ़ाव से भरा रहेगा। आप नौकरी बदलने का विचार कर सकते हैं।

तुला 

 आज दोस्तों के साथ खूब बातें होंगी। मन खुश रहेगा। आप नए जोश के साथ हर काम को शुरू करेंगे। आप अपने ऑफिस में साथ काम करने वाले लोगों से आज खूब बातें और प्यार भरा व्यवहार करेंगे, जिससे आपके संबंध सुधरेंगे। इसका आपको लाभ मिलेगा। बिजनेस के लिए भी दिन अच्छा है। सेहत भी मजबूत रहेगी। प्रेम जीवन में खुशियों से भरा दिन रहेगा। दांपत्य जीवन में तनाव में कमी आएगी। 

वृश्चिक 

) मानसिक तनाव से बाहर निकलने से दिल में खुशी की भावना रहेगी। आज घर में कोई फंक्शन कर सकते हैं। अच्छे-अच्छे पकवान खाने का मौका मिलेगा। घर में खुशियां आएंगी। आपकी सेहत भी अच्छी रहेगी, जिससे आप हर खुशी का आनंद ले पाएंगे। गृहस्थ जीवन खूबसूरत रहेगा। जीवनसाथी घर की खुशियों में आप का साझीदार बनेगा। प्रेम जीवन बिता रहे लोग भी आज बड़े खुश नजर आएंगे। अपने दोस्तों से अपने प्रिय को मनवाएंगे। विरोधियों पर आप भारी पड़ेंगे। नौकरी के सिलसिले में दिन मजबूत है। 

धनु 

 आपके लिए आज का दिन मान अच्छा रहेगा। सेहत मजबूत रहने से कामों में सफलता मिलेगी। आपका आत्मविश्वास भी बढ़ोतरी पर होगा। प्रेम जीवन में उतार-चढ़ाव के बीच प्रेम के अंकुर फूटेगा। शादीशुदा लोग गृहस्थ जीवन में बड़े ही रोमांटिक हो पर नजर आएंगे। आपका मन ज्ञान ध्यान में और कर्म की बातों में लगेगा। काम के सिलसिले में मजबूत स्थिति रहेगी। 

मकर 

 ग्रहों की स्थिति खर्चों में बढ़ोतरी का अंदेशा जता रही है। खर्चे ज्यादा होंगे, जो आपको परेशानी में डाल सकते हैं। जमीन ज्यादा से जुड़े मामलों में सफलता मिलेगी। घर का माहौल अच्छा रहेगा। खुद पर यकीन बढ़ेगा, बिजनस में सफलता मिलेगी। नौकरीपेशा लोगों को काफी भागदौड़ और ट्रैवलिंग करनी पड़ सकती है। प्रेम जीवन अच्छा रहेगा। प्रिय के लिए कुछ नया करने की कोशिश करेंगे। शादीशुदा लोग गृहस्थ जीवन से खुश नजर आएंगे, लेकिन परिवार की किसी बात को लेकर आप और जीवन साथी के मध्य मतभेद हो सकता है।

कुंभ

 आज का दिनमान आपके लिए बढ़िया रहेगा। अपनी इच्छा पूर्ति से दिल में खर्च की भावना रहेगी। सेहत ठीक रहेगी। फिर भी चोट ना लगे। इसका ध्यान रखें। इनकम में बढ़ोतरी होने से मन खुश हो जाएगा। बिजनेस सफलता दायक रहेगा। आप कुछ बड़े लोगों से मिलेंगे। आज किसी तरह की पार्टी करने का मौका मिलेगा। प्रेम जीवन के लिए दिन बहुत ही रोमांटिक है, जबकि शादीशुदा लोग अपने गृहस्थ जीवन में जीवनसाथी के साथ प्यार भरी बातें करेंगे और जीवन साथी कुछ काम की बातों से आपको लाभ पहुंचाने की कोशिश करेंगे। 

मीन 

 आज का दिनमान बढ़िया रहेगा। काम पर पूरा ध्यान रहेगा, जिससे आपको सफलता मिलेगी। मन में खुशी भी रहेगी और कोई इच्छा पूरी होने से दिल बाग बाग महसूस होगा। घर परिवार की स्थिति अभी आप के हक में नजर आएंगी। घरेलू खर्च भी करेंगे। घरवालों का सहयोग मिलेगा। बोलने में कड़वाहट रहेगी, लेकिन कामों में सफलता मिलेगी। नौकरी के लिए दिन बहुत बढ़िया है। शादीशुदा लोग गृहस्थ जीवन से खुश नजर आएंगे, जबकि प्रेम जीवन बिता रहे लोगों के लिए आज का दिन अच्छा रहने वाला है और आपका प्रिय आज आपके बिजनेस में आपकी मदद करने की इच्छा जताएगा।



जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं


दिनांक 12 को जन्मे व्यक्तियों का अंक ज्योतिष के अनुसार मूलांक तीन आता है। यह बृहस्पति का प्रतिनिधि अंक है। आप दार्शनिक स्वभाव के होने के बावजूद एक विशेष प्रकार की स्फूर्ति रखते हैं। आपकी शिक्षा के क्षेत्र में पकड़ मजबूत होगी। आप एक सामाजिक प्राणी हैं। आप सदैव परिपूर्णता या कहें कि परफेक्शन की तलाश में रहते हैं यही वजह है कि अकसर अव्यवस्थाओं के कारण तनाव में रहते हैं। ऐसे व्यक्ति निष्कपट, दयालु एवं उच्च तार्किक क्षमता वाले होते हैं। अनुशासनप्रिय होने के कारण कभी-कभी आप तानाशाह भी बन जाते हैं। 

 

शुभ दिनांक : 3, 12, 21, 30

 

शुभ अंक : 1, 3, 6, 7, 9




 

शुभ वर्ष : 2028, 2030, 2031, 2034, 2043, 2049, 2052

 

ईष्टदेव : देवी सरस्वती, देवगुरु बृहस्पति, भगवान विष्णु 


 

शुभ रंग : पीला, सुनहरा और गुलाबी 

 

कैसा रहेगा यह वर्ष

घर या परिवार में शुभ कार्य होंगे। यह वर्ष आपके लिए अत्यंत सुखद है। नवीन व्यापार की योजना भी बन सकती है। दांपत्य जीवन में सुखद स्थिति रहेगी। किसी विशेष परीक्षा में सफलता मिल सकती है। नौकरीपेशा के लिए प्रतिभा के बल पर उत्तम सफलता का है। मित्र वर्ग का सहयोग सुखद रहेगा। शत्रु वर्ग प्रभावहीन होंगे। महत्वपूर्ण कार्य से यात्रा के योग भी है।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा