चिल्लागाह को खाली कराने की प्रक्रिया अंतिम चरण में

 मुजफ्फरनगर । बिहारगढ़ में वन विभाग की करीब 100 बीघा भूमि पर बने पीर खुशहाल के चिल्लागाह को खाली कराने की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। भवन के अतिथि गृह व रसोई को प्रशासन ने तोड़कर अपने कब्जे में कर लिया। पीर खुशहाल के आवासीय भवन को भी खाली कराया जा रहा है। वहां से सेवकों का सामान निकालकर ट्रक द्वारा भेजा जा रहा है।



जिले के भोपा थाना क्षेत्र के गांव बिहारगढ़ में वन विभाग की भूमि पर बने पीर खुशहाल के चिल्लागाह की भूमि को कब्जा मुक्त कराकर वन विभाग को सौंप दिया है। चिल्लागाह में वनकर्मियों ने डेरा डाल रखा है। पीर खुशहाल के आवासीय भवन को भी खाली कराया जा रहा है। सेवकों ने आठ कमरों को खाली कर उनकी चाबी वन विभाग को सौंप दी है। शनिवार को भी सेवकों का चार ट्रक में घरेलू सामान लोड कर बरेली भेज दिया गया है। मुकदमा दर्ज होने के बाद से पीर साहब के दामाद सूफी जव्वाद अहमद व पत्नी नाजिया आफरीदी फरार है। अपर जिलाधिकारी प्रशासन अमित कुमार ने बताया कि चिल्लागाह प्रबन्धन को आवासीय परिसर को खाली करने के लिए शनिवार तक का समय दिया गया था। इसके बाद सात कमरों की चाबियां वन विभाग को सौंप दी गई हैं तथा उससे पहले लगभग 40 कमरों को तोडकर कब्जे में ले लिया गया है।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा