आज का पंचांग एवँ राशिफल 30 नवम्बर 2020

 

🌞 ~ *आज का हिन्दू पंचांग* ~ 🌞

⛅ *दिनांक 30 नवम्बर 2020


*

⛅ *दिन - सोमवार*

⛅ *विक्रम संवत - 2077*

⛅ *शक संवत - 1942*

⛅ *अयन - दक्षिणायन*

⛅ *ऋतु - हेमंत*

⛅ *मास - कार्तिक*

⛅ *पक्ष - शुक्ल* 

⛅ *तिथि - पूर्णिमा दोपहर 02:59 तक तत्पश्चात प्रतिपदा*

⛅ *नक्षत्र - रोहिणी पूर्ण रात्रि तक*

⛅ *योग - शिव सुबह 10:47 तक तत्पश्चात सिद्ध*

⛅ *राहुकाल - सुबह 08:21 से सुबह 09:43 तक*

⛅ *सूर्योदय - 07:00* 

⛅ *सूर्यास्त - 17:54* 

(हर जिले के लिए सूर्योदय और सूर्यास्त के समय मे अंतर संभव है)

⛅ *दिशाशूल - पूर्व दिशा में*

⛅ *व्रत पर्व विवरण - कार्तिक पूर्णिमा, देव दिवाली, कार्तिक स्नान समाप्त, तुलसी विवाह समाप्त, गुरु नानकजी जयंती*

 💥 *विशेष - पूर्णिमा के दिन ब्रह्मचर्य पालन करे तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)*

               🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 

🌷 *मार्गशीर्ष मास* 🌷

🙏🏻 *मार्गशीर्ष हिन्दू धर्म का नौवाँ महिना है। मार्गशीर्ष को( अग्रहायण) नाम भी दिया गया है। अग्रहायण शब्द 'आग्रहायणी' नक्षत्र से संबंधित है जो मृगशीर्ष या मृगशिरा का ही दूसरा नाम है । अग्रहायण का तद्भव रूप 'अगहन' है । इस वर्ष 01 दिसम्बर 2020 मंगलवार (उत्तर भारत हिन्दू पञ्चाङ्ग के अनुसार) से मार्गशीर्ष का आरम्भ हो रहा है। वैदिक काल से मार्गशीर्ष माह का विशेष महत्व रहा है। प्राचीन समय में मार्गशीर्ष से ही नववर्ष का प्रारम्भ माना जाता था। मार्गशीर्ष माह में सनातन संस्कृति के दो प्रमुख विवाह संपन्न हुए थे। शिव विवाह तथा राम विवाह। मार्गशीर्ष शुक्ल पंचमी को राम विवाह तो सर्वविदित है ही साथ ही शिवपुराण, रुद्रसंहिता, पार्वतीखण्ड के अनुसार सप्तर्षियों के समझाने से हिमवान ने शिव के साथ अपनी पुत्री का विवाह मार्गशीर्ष माह में निश्चित किया था ।*

👉🏻 *श्रीमद्भागवतगीता में श्रीकृष्ण स्वयं कहते हैं “मासानां मार्गशीर्षोऽहं नक्षत्राणां तथाभिजित्” अर्थात मैं महीनों में मार्गशीर्ष और नक्षत्रों में अभिजित् हूँ।*

👉🏻 *स्कन्दपुराण, वैष्णवखण्ड के अनुसार “मार्गशीर्षोऽधिकस्तस्मात्सर्वदा च मम प्रियः ।। उषस्युत्थाय यो मर्त्यः स्नानं विधिवदाचरेत् ।। तुष्टोऽहं तस्य यच्छामि स्वात्मानमपि पुत्रक ।।” श्रीभगवान कहते हैं की मार्गशीर्ष मास मुझे सदैव प्रिय है। जो मनुष्य प्रातःकाल उठकर मार्गशीर्ष में विधिपूर्वक स्नान करता है, उस पर संतुष्ट होकर मैं अपने आपको भी उसे समर्पित कर देता हूँ।*

💥 *मार्गशीर्ष में सप्तमी, अष्टमी मासशून्य तिथियाँ हैं। मासशून्य तिथियों में मंगलकार्य करने से वंश तथा धन का नाश होता है।*

👉🏻 *महाभारत अनुशासन पर्व अध्याय 106 के अनुसार “मार्गशीर्षं तु वै मासमेकभक्तेन यः क्षिपेत्। भोजयेच्च द्विजाञ्शक्त्या स मुच्येद्व्याधिकिल्बिषैः।। सर्वकल्याणसम्पूर्णः सर्वौषधिसमन्वितः। कृषिभागी बहुधनो बहुधान्यश्च जायते।।” जो मार्गशीर्ष मास को एक समय भोजन करके बिताता है और अपनी शक्ति के अनुसार ब्राह्माण को भोजन कराता है, वह रोग और पापों से मुक्त हो जाता है । वह सब प्रकार के कल्याणमय साधनों से सम्पन्न तथा सब तरह की औषधियों (अन्न-फल आदि) से भरा-पूरा होता है। मार्गशीर्ष मास में उपवास करने से मनुष्य दूसरे जन्म में रोग रहित और बलवान होता है। उसके पास खेती-बारी की सुविधा रहती है तथा वह बहुत धन-धान्य से सम्पन्न होता है ।*

👉🏻 *स्कन्दपुराण, वैष्णवखण्ड के अनुसार “मार्गशीर्षं समग्रं तु एकभक्तेन यः क्षिपेत् ।। भोजयेद्यो द्विजान्भक्त्या स मुच्येद्व्याधिकिल्विषैः।।” जो प्रतिदिन एक बार भोजन करके समूचे मार्गशीर्ष को व्यतीत करता है और भक्तिपूर्वक ब्राह्मणों को भोजन कराता है, वह रोगों और पातकों से मुक्त हो जाता है।*

👉🏻 *शिवपुराण के अनुसार मार्गशीर्ष में चाँदी का दान करने से वीर्य की वृद्धि होती है। शिवपुराण विश्वेश्वर संहिता के अनुसार मार्गशीर्ष में अन्नदान का सर्वाधिक महत्व है “मार्गशीर्षे ऽन्नदस्यैव सर्वमिष्टफलं भवेत् ॥ पापक्षयं चेष्टसिद्धिं चारोग्यं धर्ममेव च॥” अर्थात मार्गशीर्ष मास में केवल अन्नका दान करने वाले मनुष्यों को ही सम्पूर्ण अभीष्ट फलों की प्राप्ति हो जाती है | मार्गशीर्षमास में अन्न का दान करने वाले मनुष्य के सारे पाप नष्ट हो जाते हैं |*

🙏🏻 *मार्गशीर्ष माह में मथुरापुरी निवास करने का बहुत महत्व है। स्कन्दपुराण में स्वयं श्रीभगवान, ब्रह्मा से कहते हैं -*

🌷 *“पूर्णे वर्षसहस्रे तु तीर्थराजे तु यत्फलम् । तत्फलं लभते पुत्र सहोमासे मधोः पुरे ।।” अर्थात तीर्थराज प्रयाग में एक हजार वर्ष तक निवास करने से जो फल प्राप्त होता है, वह मथुरापुरी में केवल अगहन (मार्गशीर्ष) में निवास करने से मिल जाता है।*

🙏🏻 *मार्गशीर्ष मास में विश्वदेवताओं का पूजन किया जाता है कि जो गुजर गये उनकी आत्मा की शांति हेतु ताकि उनको शांति मिले | जीवनकाल में तो बिचारे शांति न लें पाये और चीजों में उनकी शांति दिखती रही पर मिली नहीं | तो मार्गशीर्ष मास में विश्व देवताओं के पूजन करते है भटकते जीवों के सद्गति हेतु |*

🙏

साफ़्ताहिक राशिफल


मेष 

मेष राशि वालों के लिए यह सप्ताह अत्यंत शुभ और उन्नति प्रदान करने वाला साबित होगा। ऐसे में आप अपनी क्षमताओं का पूरा उपयोग करें। यदि किसी के पास लंबे समय से आपका धन अटका पड़ा था उसकी अप्रत्याशित रूप से वापसी के योग बनेंगे। भूमि-भवन के क्रय-विक्रय से लाभ होगा। किसी मित्र की मदद से अटके कार्य पूरे होंगे। सप्ताह की शुरुआत परिजनों के साथ हंसी-खुशी समय बिताते हुए होगी। मांगलिक कार्यों में शामिल होने का मौका मिलेगा। किसी प्रिय से लंबे समय बाद मुलाकात होगी। दांपत्य जीवन में सामंजस्य बना रहेगा। प्रेम संबंधों में प्रगाढ़ता आयेगी। सप्ताह के मध्य में किसी दूसरे व्यक्ति के बहकावे में आने से बचें, अन्यथा परिजनों या मित्रों से संबंध बिगड़ सकते हैं। अपनी सेहत का पूरा ख्याल रखें। मौसमी और पुरानी बीमारी दोनों के चपेट में आ सकते हैं। यह समय छात्रों के लिए भी चुनौती भरा साबित होगी। कठिन परिश्रम से ही सफलता मिलेगी।


शुभ अंक- 7

शुभ दिन- शुक्रवार

शुभ रंग- सफेद

सफलता का सूत्र- धैर्यपूर्वक कार्य करें।

उपाय- शुक्रवार के दिन सफेद कपड़ा, चावल, मिश्री और सफेद बर्फी किसी धार्मिक स्थान पर चढ़ाएं।

वृष 

वृष राषि के जातक इस सप्ताह किसी से भी कोई वादा करने से पहले खूब सोच-विचार कर लें, अन्यथा पूरे नहीं कर पाने की स्थिति में अपमान झेलना पड़ सकता है। ग्रह गोचर इस सप्ताह के प्रारंभ में आनी वाली कुछ परेशानियों की तरफ संकेत कर रहे हैं। कार्यक्षेत्र में कामकाज का भारी दबाव रहेगा। टारेगट ओरिएंटेड जॉब वालों को मेहनत के अनुसार फल नहीं मिलने पर मन खिन्न रहेगा। व्यापार या किसी भी बड़ी योजना में निवेश करने से पहले खूब सोच-विचार लें। घरेलू संबंधों में समस्याओं को सुलझाते समय विवेक का पूरा इस्तेमाल करें। अत्यधिक भावुकता से बचें। सप्ताह के अंत में किसी बात को लेकर परिजनों से मतभेद हो सकता है। इस दौरान अपनी वाणी पर पूरा संयम रखें। यदि आप जमीन या मकान के क्रय-विक्रय का विचार बना रहे हैं तो थोड़ा ठहर जाना बेहतर रहेगा। कठिन पलों में जीवनसाथी का पूरा सहयोग मिलेगा। प्रेम सबंधों में मीठी नोक-झोंक हो सकती है, लेकिन किसी भी सूरत में अपने साथी की उपेक्षा करने से बचें, अन्यथा बात ज्यादा बिगड़ सकती है।


शुभ अंक- 4

शुभ दिन- सोमवार

शुभ रंग- गुलाबी

सफलता का सूत्र- चुनौतियों का सामना करें।

उपाय- गुरुवार के दिन पानी में चुटकी भर हल्दी मिलाकर स्नान करें और केले के वृक्ष की पूजा करें।

मिथुन 

नवंबर माह का आखिरी सप्ताह आपकी जिंदगी में नये अवसर लेकर आ रहा है। यदि आप लंबे समय से रोजगार की तलाश में थे आपका इंतजार खत्म होगा। नौकरीपेशा लोगों का मनचाहे स्थान पर तबादला या प्रमोशन होगा। शासन-सत्ता से जुड़े लोगों और कमीशन का काम करने वाले लोगों को अप्रत्याशित लाभ होगा। सप्ताह के मध्य में कारोबार के सिलसिले में लंबी दूरी की यात्रा करनी पड़ सकती है। यात्रा सुखद एवं लाभदायक साबित होगी। सप्ताह के अंत में कामकाजी महिलाओं को योजनाबद्ध तरीके से काम करने की आवश्यकता रहेगी। माता-पिता का पूरा सहयोग मिलेगा, लेकिन मां की सेहत का विशेष ख्याल रखना होगा। घरेलू महिलाओं का अधिकांश समय धार्मिक कार्यों में बीतेगा। प्रेम संबंधों में मधुरता आयेगी और लव पार्टनर के बेहतर समय व्यतीत होगा।


शुभ अंक-1

शुभ दिन-बुधवार

शुभ रंग-हरा

सफलता का सूत्र-समय का सदुपयोग करें।

उपाय-गाय को हरा चारा खिलाएं अथवा उसके निमित्त दान करें। ॐ गं गणपतये नम: 'मंत्र का जाप करें। सभी विघ्न बाधाएं दूर होंगी और कार्य शुभ होंगे


कर्क 

कर्क राशि के जातकों का मन इस सप्ताह अपने लक्ष्य से भटक सकता है। भावुकता या जल्दबाजी में कोई महत्वपूर्ण निर्णय लेने से बचें और किसी कागज पर सोच-समझकर ही साइन करें। किसी भी सूरत में अपनी कमजोरियों को न तो किसी को बताएं और न ही शत्रुपक्ष को पता लगने दें। स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों की अनदेखी न करें, अन्यथा बड़ी परेशानी झेलनी पड़ सकती है। सप्ताह के अंत में अनावश्यक कार्यों में अत्यधिक खर्च होने से मन खिन्न रहेगा। आर्थिक दृष्टि से यह सप्ताह क्रय-विक्रय के लिए सकारात्मक नहीं रहेगा। सप्ताह के अंत में कार्य की व्यस्तता के चलते परिवार के साथ कम समय बिता पाएंगे। वैवाहिक जीवन मे जीवनसाथी को लेकर कुछेक सेहत संबंधी समस्या से आने से मन में तनाव बना रहेगा। छात्रों को अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए कठिन परिश्रम करना होगा।


शुभ अंक -5

शुभ दिन- मंगलवार

शुभ रंग- क्रीम

सफलता का सूत्र- विवेक का इस्तेमाल करें।

उपाय- मंगलवार को हनुमान जी को गुलाब की माला चढ़ाएं और प्रतिदिन हनुमान चालीसा का पाठ करें।

सिंह 

सिंह राशि के जातकों को सप्ताह की शुरुआत में किसी मित्र या सगे-संबंधी की मदद से अपेक्षा से अधिक धन लाभ होगा। लंबे अरसे से अटके काम बनेंगे। दवा, होजरी और कमीशन पर काम करने वालों को लाभ होगा। किसी बड़ी वस्तु या वाहन आदि की खरीद पर बड़ी धनराशि खर्च कर सकते हैं। नौकरीपेशा लोगों को मान-सम्मान के साथ बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है। कुल मिलाकर करिअर और कारोबार के लिए यह सप्ताह अत्यंत ही शुभ साबित होने जा रहा है। सप्ताह के मध्य में प्रेम-प्रसंग में किसी बात को लेकर मन दुविधा में रहेगा। अपने लव पार्टनर की भावनाओं की उपेक्षा न करें अन्यथा बात ज्यादा बिगड़ सकती है। दांपत्य जीवन में किसी तीसरे के प्रवेश से परिवार में कलह पैदा हो सकती है।


शुभ अंक- 6

शुभ दिन- गुरुवार

शुभ रंग- पीला

सफलता का सूत्र- लक्ष्य से न भटकें।

उपाय- भगवान विष्णु की आराधना करें और प्रसाद स्वरूप हल्दी या पीले चंदन का टीका लगाएं।

कन्या 

कन्या राशि के जातकों के लिए यह सप्ताह सामान्य लाभ एवं उन्नतिकारक साबित होगा। आलस्य की अधिकता रहेगी और कामकाज में मन नहीं लगेगा। युवा वर्ग का अधिकांश समय मित्रों संग मौज-मस्ती करते हुए बीतेगा। मनोरंजन के साधनों में अभिरुचि बढ़ेगी। लेकिन ध्यान रहे कि सितारे भले ही आपके पक्ष में हों, लेकिन आज का काम कल पर टालने पर सुनहरा अवसर आपके हाथ से निकल भी सकता है। लंबी दूरी की यात्रा करते समय सेहत और सामान की विशेष रूप से सावधानी रखें। सप्ताह के अंत में छात्रों को आशाजनक परिणाम दिखाई देंगे। संतान पक्ष की तरुफ से सुखद समाचार प्राप्त होगा। प्रेम-प्रसंग में सफलता मिलेगी। लव पार्टनर के साथ सामंजस्य बढ़ेगा।


शुभ अंक- 6

शुभ दिन- बुधवार

शुभ रंग- हरा

सफलता का सूत्र- आलस्य न करें।

उपाय- गणपति को दूर्वा चढ़ाएं और ‘ॐ गं गणपतये नम:’मंत्र का जाप करें।

तुला 

तुला राशि के जातकों के लिए यह सप्ताह तमाम तरह के सुखों और लाभ को प्रदान करने वाला होगा। कार्यक्षेत्र और व्यापार के क्षेत्र में मनचाही सफलता प्राप्त होगी। लंबे समय से चली आ रही कोई बड़ी योजना पूरी होगी। इष्ट-मित्रों का पूरा सहयोग मिलेगा। सप्ताह के मध्य में किसी प्रभावी व्यक्ति से मुलाकात होगी। जिसकी मदद से बड़े लाभ की संभावनाएं बनेंगी। सेहत की दृष्टि से भी यह उत्तम साबित होगा। यदि भूमि, भवन या वाहन खरीदने या बेचने की सोच रहे थे तो यह समय उत्तम है। सही दिशा में प्रयास करने पर अवश्य लाभ होगा। आपकी कार्ययोजना को पूरा करने में माता-पिता का पूरा सहयोग मिलेगा। दांपत्य जीवन में सामंजस्य बना रहेगा। प्रेम संबंध विवाह में बदल सकते हैं।


शुभ अंक-1

शुभ दिन-शुक्रवार

शुभ रंग-सफेद

सफलता का सूत्र-लक्ष्य से न भटकें।

उपाय-किसी मंदिर के बार गरीबों को खीर का प्रसाद बांटे।

वृश्चिक 

यदि आप लंबे समय से किसी शुभ समाचार या कार्य के होने का इंतजार कर रहे तो थे, सप्ताह की शुरुआत में ही आपको उससे जुड़ी अच्छी खबर सुनने को मिल जायेगी। इसी दौरान करिअर या कारोबार से जुड़े महत्वपूर्ण फैसले लेने पड़ सकते हैं। साझेदारी में कार्य करने को लेकर योजना बन सकती है। फुटकर विक्रेताओं को लाभ कमाने के कई मौके मिलेंगे। सप्ताह के मध्य किसी परिजन या प्रिय की तबीयत खराब होने से मन परेशान रहेगा। सेहत की दृष्टि से आपको स्वयं भी सतर्क रहने की आवश्यकता है। सप्ताह के अंत में छुपे हुए शत्रुओं से सावधान रहें और हाथ दबाकर खर्च करें अन्यथा पैसों की दिक्कत झेलनी पड़ सकती है। इस दौरान परिवार के सदस्यों का कम सहयोग मिलने से मन खिन्न रह सकता है। प्रेम संबंधों कुछेक गलतफहमियां पैदा हो सकती हैं।


शुभ अंक- 4

शुभ दिन- मंगलवार

शुभ रंग- लाल

सफलता का सूत्र- सतर्क रहें और विवेक का इस्तेमाल करें।

उपाय- मंगलवार को लाल कपड़े में आटा और मसूर की दाल रखकर दक्षिणा सहित दान करें।

धनु 

धनु राशि के जातकों का सौभाग्य आपका दरवाजा खटखटा रहा है, ऐसे में किसी भी सूरत में अवसर को हाथ से न जानें दें। घर में मांगलिक कार्य संपन्न होंगे। आप अपनी सूझ-बूझ से अपने करिअर और कारोबार को आगे बढ़ाने में कामयाब होंगे। हालांकि इस दौरान किसी भी तरह की लापरवाही या किसी पर जरूरत से ज्यादा विश्वास करने पर अपेक्षाकृत लाभ कम हो सकता है। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में जुटे छात्रों के लिए समय शुभ है। परिश्रम करने पर सफलता अवश्य मिलेगी। सप्ताह की शुरुआत में छोटी यात्राएं हो सकती हैं। किसी महिला मित्र की मदद से प्रेम-प्रसंग में अड़चनें दूर होंगी। संतान पक्ष से सुखद समाचार मिलने से मन प्रसन्न रहेगा।


शुभ अंक- 7

शुभ दिन-सोमवार

शुभ रंग-पीला

सफलता का सूत्र-मनोयोग से काम करें।

उपाय - भगवान विष्णु की विधि-विधान से पूजा करें। गुरुवार के दिन हल्दी और चने की दाल दक्षिणा सहित दान करें।

मकर

मकर राशि के जातकों को इस सप्ताह किसी भी कार्य को करते समय उतावलेपन से बचना होगा, नहीं तो हंसी का पात्र बनना पड़ सकता है। सप्ताह के मध्य में छुपे हुए शत्रुओं से सावधान रहने की जरूरत होगी। परिवार में भाई-बहनों से किसी बात को लेकर मतभेद पैदा हो सकते हैं। किसी भी सूरत में आपा न खोएं और आपस में सामंजस्य बनाए रखें। अन्यथा आपकी कमजोरियों का कोई दूसरा फायदा उठा सकता है। जीवनसाथी के प्रति ईमानदार रहें अन्यथा सामाजिक कलंक या अपमान झेलना पड़ सकता है। सप्ताह के अंत में कोर्ट कचहरी के मामलों को कोर्ट के बाहर निबटने के कारण राहत की सांस लेंगे। किसी महिला मित्र की मदद से प्रेम सबंधों में उपजी गलतफहमियां दूर होंगी। माता-पिता का स्नेह और सहयोग दोनों ही प्राप्त होगा। किसी धार्मिक स्थान की यात्रा के योग बनेंगे।


शुभ अंक- 4

शुभ दिन- शुक्रवार

शुभ रंग- सफेद

सफलता का सूत्र- मन को शांत रखें।

उपाय- शनिवार की शाम को एक पानी वाला नारियल लेकर बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें।

कुंभ 

सप्ताह की शुरुआत में खर्च की अधिकता के चलते आर्थिक स्थिति कमजोर रहेगी। किसी से धन उधार लेने की नौबत पड़ सकती है, लेकिन ध्यान रहे कि मंगलवार के दिन किसी से पैसे उधार न लें अन्यथा उसे चुकाने में आपको काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। बहुत आवश्यक होने पर ही किसी स्थान की यात्रा पर निकलें। अपनी सेहत का विशेष ध्यान रखें। घर परिवार में सुख शांति को बनाए रखने के लिए छोटी मोटी बात को इग्नोर करें। युवाओं और छात्रों के जीवन में कुछ कठिनाईयां हो सकती हैं। सप्ताह के अंत में किसी वरिष्ठ की मदद से पारिवारिक गलतफहमियां दूर होंगी। परिजन आपके प्रेम को स्वीकार लेंगे। दांपत्य जीवन में जीवनसाथी का पूरा साथ मिलेगा।


शुभ अंक-9

शुभ दिन-शनिवार

शुभ रंग-नीला

सफलता का सूत्र-जल्दबाजी न करें।

उपाय-किसी सफाईकर्मी या मजदूर को शनिवार के दिन काली चाय की पत्ती दान करें।

मीन 

यदि आपको कोई इज्जत दे रहा है तो आप उसकी उसे कमजोरी समझने की भूल न करें। परिजन एवं शुभचिंतकों की भावनाओं की कद्र करें, अन्यथा वे आपको छोड़कर जा सकते हैं। कार्यक्षेत्र में सहयोगियों को साथ लेकर चलने पर ही सफलता मिलेगी। सप्ताह के प्रारंभ में खानपान का विशेष ख्याल रखें अन्यथा पेट सबंधी कोई परेशानी हो सकती है। छात्रों और युवाओं के लिए समय मध्यम है। किसी के फटे में टांग अड़ाने से बचें अन्यथा कोर्ट कचहरी के चक्कर तक लगाने पड़ सकते हैं। सप्ताह के अंत में संतान पक्ष की तरफ से कोई सुखद समाचार मिलने से चिंताओं में कुछ कमी आयेगी। किसी कार्य योजना को लेकर ससुराल पक्ष का पूरा सहयोग मिलेगा।


शुभ अंक- 2

शुभ दिन- रविवार

शुभ रंग- लाल

सफलता का सूत्र- समय और संबंधों की कद्र करें।

उपाय-रविवार के दिन तांबे के लोटे में जल और रोली मिलाकर भगवान सूर्य को जल दें।


जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं


अंक ज्योतिष के अनुसार आपका मूलांक तीन आता है। यह बृहस्पति का प्रतिनिधि अंक है। ऐसे व्यक्ति निष्कपट, दयालु एवं उच्च तार्किक क्षमता वाले होते हैं। अनुशासनप्रिय होने के कारण कभी-कभी आप तानाशाह भी बन जाते हैं। आप दार्शनिक स्वभाव के होने के बावजूद एक विशेष प्रकार की स्फूर्ति रखते हैं। आपकी शिक्षा के क्षेत्र में पकड़ मजबूत होगी। आप एक सामाजिक प्राणी हैं। आप सदैव परिपूर्णता या कहें कि परफेक्शन की तलाश में रहते हैं यही वजह है कि अकसर अव्यवस्थाओं के कारण तनाव में रहते हैं। 

 

शुभ दिनांक : 3, 12, 21, 30

 

शुभ अंक : 1, 3, 6, 7, 9, 



 

शुभ वर्ष : 2028, 2030, 2031, 2034, 2043, 2049, 2052,    

 


ईष्टदेव : देवी सरस्वती, देवगुरु बृहस्पति, भगवान विष्णु 

 

शुभ रंग : पीला, सुनहरा और गुलाबी 

 

कैसा रहेगा यह वर्ष

आपके लिए यह वर्ष सुखद है। किसी विशेष परीक्षा में सफलता मिल सकती है। नौकरीपेशा के लिए प्रतिभा के बल पर उत्तम सफलता का है। नवीन व्यापार की योजना भी बन सकती है। दांपत्य जीवन में सुखद स्थिति रहेगी। घर या परिवार में शुभ कार्य होंगे। महत्वपूर्ण कार्य से यात्रा के योग भी है। मित्र वर्ग का सहयोग सुखद रहेगा। शत्रु वर्ग प्रभावहीन होंगे।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा