Monday, October 11, 2021

किसानों को कुचलने वाले आतंकवादी हैं: जयंत


मुजफ्फरनगर । बुढ़ाना में रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी ने कहा कि लखीमपुर खीरी की घटना को हमें भूलना नहीं चाहिए। जिन किसानों ने हमारे लिए शहादत दी है उनके नाम याद रखो, चुनाव में जब छिपे चेहरे वोट मांगने आएं तब इन शहीदों के नाम उन्हें बता कर लखीमपुर की घटना को याद दिलाना। जयंत चौधरी ने कहा कि हमें लखीमपुर की घटना का बदला लेना है। यह बदला प्रदेश में सत्ता परिवर्तन कर रालोद की सरकार बनाकर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि किसानों को कुचलने वाले आतंकवादी हैं।

डीएवी इंटर कॉलेज के मैदान में आयोजित आशीर्वाद पथ यात्रा के अंतर्गत हुई जनसभा में रालोद अध्यक्ष जयंत चौधरी ने रालोद का चुनावी बिगुल फूंका। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार किसानों को छह हजार रुपये दे रही हैं। प्रदेश में रालोद की सरकार आने पर 12 हजार और सीमांत किसानों को 15 हजार रुपए सालाना दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि डिफाल्टर चीनी मिलों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। सर्वोदय योजना में सबका विकास किया जाएगा। सुरक्षा की गारंटी दी जाएगी। पंचायती राज के तहत सभी अधिकार दिए जाएंगे, पश्चिम यूपी के अलावा बुंदेलखंड में भी हाईकोर्ट बेंच की स्थापना कराई जाएगी। 31 अक्टूबर को रालोद का चुनावी घोषणा पत्र जारी किया जाएगा। उन्होंने कार्यकर्ताओं से गांव-गांव जाकर मौजूदा सरकार की किसान और जनविरोधी नीतियों को लोगों से बताने का आह्वान किया।

जयंत चौधरी ने मोदी सरकार को पूंजीपतियों के रिमोट कंट्रोल की सरकार और यूपी की योगी सरकार को बिना कंट्रोल की सरकार बताया। उन्होंने कहा कि मोदी और योगी ने जो वादे किए थे वह सब यादें झूठे निकले हैं। महंगाई पर रोक नहीं लगी, किसानों की आय दोगुनी नहीं हुई। उन्होंने लोगों से चौधरी चरण सिंह और अजीत सिंह की नीतियों पर चलकर सत्ता परिवर्तन करने का आह्वान किया। इस दौरान कई समाज के लोगों ने पगड़ी पहनाकर उनका अभिनंदन किया। रालोद की जिम्मेदारी अब जयंत चौधरी के कंधों पर है। ऐसे में वह अपने क्षेत्र की जनता को दिल जीतने की कोशिश करने में जुटे हैं।

No comments: