Saturday, September 25, 2021

संयुक्त गन्ना आयुक्त ने परखी पेराई की तैयारी और दी ये सख्त हिदायत


मुजफ्फरनगर क। संयुक्त गन्ना आयुक्त ने कहा कि पेराई सत्र से पहले किसानों की सभी  समस्याओं का यथोचित निदान कर दिया जाय। चीनी मिलें शासन की मंशानुरूप समय से पेराई कार्य प्रारंभ प्रारम्भ कर दें

संयुक्त गन्ना आयुक्त (क्रय)/ नोडल अधिकारी, गन्ना विकास विभाग , परिक्षेत्र -सहारनपुर द्वारा आज लखनऊ मुख्यालय से जनपद मुजफ्फरनगर आकर आगामी पेराई सत्र 2021-22 में विभागीय और चीनी मिलों के स्तर पर की जा रही तैयारी की जमीनी हकीकत को देखा और परखा गया तथा गन्ना विभाग की  महत्वाकांक्षी योजना जिसमें गठित महिला स्वयं सहायता समूहों द्वारा गन्ने के सिंगल बड / बड चिप विधि से सीडलिंग्स तैयार कर किसानों को वितरित जा रहा है, के कार्यशाला को संबोधित किया और मंडल के तीनों जिलों के जिला गन्ना अधिकारियो, चीनी मिलों के अधिकारियों की गन्ना शोध केंद्र, मुज़फ्फरनगर के बैठक हॉल में बैठक कर आवश्यक निर्देश दिए गए। मुख्यालय से मुज़फ्फरनगर के दौरे पर आए संयुक्त गन्ना आयुक्त (क्रय) विश्वेश कनौजिया ने सबसे पहले खतौली चीनी मिल के रिपेयर और मेंटेनेंस को देखा गया। निरीक्षण के समय मंडल सहारनपुर के उप गन्ना आयुक्त दिनेश्वर मिश्र, जिला गन्ना अधिकारी, मुज़फ्फरनगर डॉ आर डी द्विवेदी, ज्येष्ठ गन्ना विकास निरीक्षक व सचिव खतौली, चीनी मिल के उपाध्यक्ष डॉ अशोक कुमार, कुलदीप राठी, ए के सिंह, चीफ इंजीनियर आदि उपस्थित रहे। चीनी मिल के रिपेयर और मेंटेनेंस का कार्य लगभग 75 प्रति शत कार्य पूर्ण हो गया है और मिल के उपाध्यक्ष ने आश्वस्त किया कि मिल शासन के मंशानुरूप पेराई कार्य का प्रारंभ कर देगी। इसके उपरांत उन्होंने चीनी मिल द्वारा सीड ट्रीटमेंट डिवाइस और एम एच ए टी से किये जा रहे बीज उपचार को देखा और यह निर्देश दिये कि गन्ना बुवाई में प्रयुक्त होने वाले बीज को अवश्य उपचारित किया जाए तथा किसानो को भी बीज उपचार हेतु प्रेरित किया जाय।


 नोडल अधिकारी द्वारा गन्ना समिति/ परिषद की ओर से आयोजित सर्वे /सट्टा मेला का अवलोकन किया गया और आये हुए किसानों से फीड बैक लिया तथा वहीं पर किसानो के लिए ऑनलाइन घोषणा-पत्र भराये जाने के काउंटर पर कार्य कर रहे ऑपरेटर से फीड बैक लिया।

    संयुक्त गन्ना आयुक्त ने चीनी मिल मंसूरपुर के प्रांगण में मिशन शक्ति के अंतर्गत महिला स्वयं सहायता समूहों के कार्यशाला को संबोधित किया तथा महिलाओं को गन्ने की सिंगल बड और बड चिप से सीडलिंग्स तैयार कर आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनने की प्रेरणा दी और महिलाओं द्वारा सिंगल बड/बड चिप को तैयार करते हुए देखा और उन्हें प्रोत्साहित किया। इस अवसर पर पांच महिला स्वयं सहायता समूहों को सैनिट्री पैड बैंडिंग मशीन को प्रोत्साहन स्वरूप प्रदान किया गया। इन समूहों में अनुभव महिला स्वयं सहायता समूह, पुरबालियान, मनी स्वयं सहायता समूह, मुबारिकपुर, बसंत महिला स्वयं सहायता समूह, नावला,भूमि स्वयं सहायता समूह,बिहारी और इरा महिला स्वयं सहायता समूह, जड़ौदा शामिल है। इस अवसर पर चीनी मिल मंसूरपुर के उपाध्यक्ष श्री अरविंद कुमार दीक्षित  , श्री बलधारी सिंह, ज्येष्ठ गन्ना विकास निरीक्षक/ सचिव प्रभारी श्री बृजेश कुमार राय उपस्थित रहे। अंत में इनके द्वारा गन्ना शोध केंद्र , मुज़फ्फरनगर में मंडल के तीनों जिलों के विभागीय और चीनी मिलो  के अधिकारियों की समीक्षा बैठक लेते हुए सभी को निर्देश दिए कि विभाग और चीनी मिलें शासन व विभागीय मंशानुरूप कार्य करें तथा आगामी पेराई सत्र से पूर्व सभी तैयारियां पूर्ण कर ली जांय, ताकि किसानों को किसी भी प्रकार की असुविधा न होने पाए।

No comments: