Monday, September 27, 2021

धर्मांतरण के आरोपी मौलाना कलीम का फूलत मदरसा बना राजनीतिक पार्टियों का 2022 के चुनाव का घर


 मुज़फ्फरनगर। धर्मांतरण एवं फंडिंग के आरोपी पुलिस के मौलाना के घर राजनीतिक पार्टियों का जमावड़ा लगातार जारी है। कई दिनों से लगातार राजनीतिक पार्टियां मौलाना को बाइजत रिहा कराने का आश्वासन परिवार को दे रही है, परंतु धर्मांतरण एवं फंडिंग के मामले में गिरफ्तार आरोपी मौलाना कलीम सिद्दीकी और उसके करीबियों पर एटीएस का शिकंजा लगातार कसता जा रहा है। राजनीतिक पार्टियां फुलत में जाकर केवल और केवल अपनी राजनीतिक रोटियां को सेकने में लगे हुए हैं। सभी राजनीतिक पार्टियां इस मुद्दे को 2022 के आने वाले चुनाव में भुनाने के लिए तैयार बैठे हैं। जिसके चलते आज धर्मांतरण व फंडिंग के मामलों में गिरफ्तार फुलत मदरसे के संचालक मौलाना कलीम के परिजनों से आज रालोद का प्रतिनिधिमंडल मिला। रालोद जिलाध्यक्ष प्रभात तोमर, पूर्व मंत्री योगराज सिंह, पूर्व विधायक राजपाल बालियान, अभिषेक चौधरी गुर्जर, धर्मेन्द्र तोमर, अजित राठी, कृष्णपाल राठी, कमल गौतम, विदित मलिक, मनोज चौधरी, अंकित बालियान, ओमकार बालियान, दीन मोहहम्मद, सलीम मलिक आदि उपस्थित रहे।

धर्मांतरण व फंडिंग के मामलों में गिरफ्तार फुलत मदरसे के संचालक मौलाना कलीम के घर आजाद समाज पार्टी की टीम भी पहुंची।

No comments: