हिंदू महासंघ ने की कांवड यात्रा तीर्थनगरी शुक्रताल से शुभारंभ कराने की मांग

 


मुजफ्फरनगर। उत्तराखंड सरकार द्वारा कावड यात्रा मेला पर प्रतिबंध लगा दिए जाने से उतर प्रदेश के हिंदू संगठन व धर्मप्रेमी लोग आक्रोशित हैं और कावड यात्रा शुरू कराने की मांग पर अडे हैं। इसी कारण उत्तर प्रदेश सरकार ने गंगा बैराज, ब्रजघाट व मुरादनगर गंगनहर से जल उठाने की अनुमति दी है। इस धार्मिक आस्था के आयोजन को लेकर आज हिन्दू महासंघ के संरक्षक मनीष चौधरी के नेतृत्व में हिंदू महासंघ के सभी घटक दलों के साथ डीएम ऑफिस पर एक ज्ञापन दिया गया। सिटी मजिस्ट्रेट अभिषेक सिंह को ज्ञापन सौंपा गया है, जिसमें मुख्य रूप से मांग की गई है कि करोडों शिवभक्त श्रद्धालु अपनी अपनी मन्नतों को पूर्ण करने हेतू कावड यात्रा का प्रण लेते हैं। इस वर्ष उत्तराखंड सरकार ने कावड यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया है, जिससे करोडों हिंदुओं की आस्था को ठेस पहुंची है, जबकि यूपी सरकार कावड यात्रा शुरू करने के लिए तैयार है। समाजसेवी मनीष चौधरी ने कहा कि इस वर्ष सभी शिवभक्त हरिद्वार से गंगाजल नहीं भर सकेंगे, तो तीर्थनगरी शुक्रताल से गंगा जल भरने की व्यवस्था कराई जाए। शुकतीर्थ महाभारत कालीन स्थल हैं, जहां पर 5 हजार साल पहले अर्जुन के परीक्षित महाराज को शाप मुक्त करने के लिए शुकदेव महाराज ने श्रीमद् भागवत कथा सुनाई थी। शुकतीर्थ से कावड यात्रा प्रारंभ करने से उतर प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली के शिवभक्त अपनी मन्नत पूरी कर सकते हैं। सहारनपुर, मेरठ, मुरादाबाद मंडल का विकास होगा। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के युवाओं को रोजगार प्राप्त होगा। शिवभक्तों को कम समय में जल मिलेगा और शुक्रताल का विकास होगा। इस अवसर पर मुख्य रूप से समाजसेवी मनीष चौधरी, केपी चौधरी, सुरेंद्र मित्तल, ब्रजबिहारी अत्री, विक्की चावला, राजकुमार कालरा, ओमप्रकाश मिश्रा, मनीष चौधरी उर्फ गोलू, कुणाल उर्फ लक्की चौधरी, पं. रामानुज दूबे, ठा. अनूप सिंह एडवोकेट, पंडित अमित तिवारी, अशोक गुप्ता, अनुरुप सिंघल आदि मौजूद रहे।

Comments

Popular posts from this blog

राज्य कर्मचारियों को भी मिलेगा बढा महंगाई भत्ता

डीएम सेल्वा कुमारी जे का तबादला, मनीष बंसल होंगे नये डीएम!

रालोद और भाकियू के नाम पर हुडदंग करने वालों पर लाठीचार्ज, पांच गिरफ्तार