Tuesday, May 25, 2021

रालोद को मिला जयंत चौधरी के रूप में नया राष्ट्रीय अध्यक्ष


 नयी दिल्ली। आज राष्ट्रीय लोकदल की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की की वर्चुअल मीटिंग में जयंत चौधरी को नया अध्यक्ष चुना गया। 

नई दिल्‍ली में आयोजित मीटिंग में गत 6 मई 2024 को पार्टी अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह के कोरोना से हुए आकस्मिक निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया गया। उपस्थित पदाधिकारियों ने उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी और दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की।

मीटिंग में जयन्त चौधरी ने किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए मजबूती से इसके साथ खड़े रहने का ऐलान किया। पार्टी कार्यकर्ताओं से 26 मई को भारी संख्या में धरने में भाग लेने को कहा। उन्होंने सरकार से मांग की कि वह किसानों से वार्ता कर समस्या का शीघ्र समाधन निकाले। जयन्त चौधरी ने पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे आगामी वर्ष 2022 में होने वाले उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनावों की तैयारी में तन-मन से जुट जाएं। मीटिंग के अन्त में जयन्त चौधरी ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सभी सदस्यों का धन्यवाद किया।

 उन्होंने देश में फैली कोरोना महामारी को लेकर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि केन्द्र और राज्य सरकारें इस महामारी को रोक पाने में नाकामयाब साबित हो रही हैं। संक्रमण को रोकने के लिए टीकाकरण अभियान को गति देने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में टीके को कम समय में पहुंचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग से जुड़े कर्मचारियों, जैसे- आशा वर्कर एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को भी जोड़ा जाये, जिससे घर-घर तक टीकाकरण अभियान चलाया जा सके। कोविन ऐप केस माध्यम से टीकाकरण के रजिस्ट्रेशन हेतु तकनीकी जानकारी के अभाव में आम जनता को परेशानी हो रही है। इस उद्देश्य के लिए कोई ऐसा तरीका अपनाया जाये जो आम आदमी के लिए सहज और सुलभ हो, क्योंकि हर व्यक्ति के पास कोविन ऐप डाउनलोड करने के लिए स्मार्ट फोन उपलब्ध नहीं है।

मीटिंग में चौधरी अजित सिंह के निधन से रिक्त हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष पद हेतु पार्टी महासचिव त्रिलोक त्यागी ने उपाध्यक्ष जयन्त चौधरी का नाम प्रस्तावित किया। पूर्व सांसद एवं राष्ट्रीय महासचिव मुंशीराम पाल ने प्रस्ताव का अनुमोदन किया, जिसका राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सभी सदस्यों ने सर्वसम्मति से समर्थन किया। अध्यक्ष चुने जाने पर श्री जयन्त चौधरी ने सभी सदस्यों का आभार व्यक्त किया। उन्होंने किसान मसीहा श्रद्धेय चौधरी चरण सिंह एवं चौधरी अजित सिंह के बताये रास्ते पर चलते हुए गांव-किसान के हितों के लिए सदैव संघर्ष करने का संकल्प लिया।

No comments:

Featured Post

उत्तर प्रदेश में उत्तराखंड सहित 4 राज्यों के लिए प्राइवेट बसों नहीं मिलेगा परमिट

 लखनऊ l यूपी से चार राज्यों के बीच निजी बस परमिट जारी करने पर रोक लगा दी गई है। कोरोना कर्फ्यू के बीच अंतर राज्य बस सेवाओं पर रोक लगी है। जि...