मुजफ्फरनगर में कोरोना को रोकने के लिए जिम्मेदार ही फैला रहे हैं कोरोना


 मुजफ्फरनगर । कमाई के अंधी हो चुकी व्यवस्था को कुछ नजर नहीं आ रहा है। बस दोनों हाथों लूट ही एकमात्र उद्देश्य रह गया है। शहर के बीचों-बीच बनाए गए कोविड-19 हॉस्पिटल द्वारा मैडिकल वेस्ट सडकों पर फेंक कर लगातार मोहल्ले में कोरोना वायरस के प्रकोप को बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है l





मामला दरअसल आर्य पुरी में स्थित डॉक्टर देवेंद्र सैनी के हॉस्पिटल का है l जिसे गवर्नमेंट ने कोविड-19 हॉस्पिटल घोषित कर दिया था l जहां पर डॉ देवेंद्र सैनी के यहां हो रहे कोविड-19 के मरीजों का इलाज के बाद उनका स्टाफ मैडिकल वेस्ट पीपी किट, मास्क एवं दस्तानों को सड़क पर इधर-उधर फेंक कर लगातार संक्रमण फैलाने की कोशिश कर रहे हैं l आर्यपुरी मोहल्ले में पिछले 10 दिनों में कोरोना संक्रमण के चलते 10 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है l बड़ी संख्या में लोग यहां कोरोना के शिकार हैं। परंतु डॉ देवेंद्र सैनी हॉस्पिटल के कंपाउंडर एवं डॉक्टर कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने के बजाए उसे और फैलाने की कोशिश कर रहे हैं। इसके चलते लोगों में भारी रोष है l इस हॉस्पिटल में खुद आईएमए के मुजफ्फरनगर के अध्यक्ष डॉ. एम. एल. गर्ग अपना योगदान दे रहे हैं l जिनके क्लिनिक पर कोविड संक्रमित व्यक्तियों का जमघट नजर आता हो, उनके द्वारा चलाए जा रहे हॉस्पिटल में क्या आलम होता होगा। आर्यपुरी के निवासियों ने जिला प्रशासन से इस हॉस्पिटल को तत्काल प्रभाव से बंद कराने की मांग की है।

Comments

Popular posts from this blog

शाहपुर सौरम की महिला सिपाही ने की आत्महत्या

राज्य कर्मचारियों को भी मिलेगा बढा महंगाई भत्ता

प्रदेश में इन विभागों से खत्म हो जाएंगे 48 कानून