Saturday, May 22, 2021

कारी सैयद उस्मान मंसूरपुरी को खिराजे अकीदत पेश की

मुजफ्फरनगर । जमीयत उलेमा-ए-मुजफ्फरनगर के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने दारुल उलूम देवबंद के कार्यवाहक मोहतमिक मौलाना कारी सैयद उस्मान मंसूरपुरी के निधन को एक बड़ी क्षति करार दिया है। जमियत उलेमा उ0प्र0 के प्रांतीय उपाध्यक्ष मौलाना नजर मोहम्मद ने कहा कि हमने एक महान व्यक्ति के साथ-साथ मज़हबे इस्लाम के एक बड़े आलिम को खो दिया है, जिसकी भरपाई करना कठिन है। प्रांतीय उपसचिव हाजी शाहिद त्यागी ने कहा कि कारी सैयद उस्मान मंसूरपुरी हैं बहुत दयालु और सच्चे मुसलमान थे। उन्होंने उनके निधन को दारुल उलूम देवबंद और जमीयत उलेमा-ए-हिंद के लिए अपूर्णीय क्षति करार दिया। ज़िला महासचिव मौलाना मुकर्रम ने कहा कि कारी उस्मान का धार्मिक, शैक्षिक और शिक्षण सेवाओं का एक उज्ज्वल इतिहास रहा है। उन्होंने पूरी ज़िन्दगी साम्प्रदायिक एकता, देश की एकता व सम्प्रभुता, भाईचारे, प्रेम का संदेश दिया। हकीम उम्मेद अली और मौलाना ताहिर कासमी ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण दारुल उलूम देवबंद के कई प्रतिष्ठित उस्तादों का निधन हो गया है लेकिन कारी सैयद उस्मान के निधन के कारण पूरा दारुल उलूम, उलेमा और मुस्लिम उम्मा अनाथ हो गए हैं। वे एक सरल, ईमानदार, सौम्य व्यक्तित्व के धनी थे। कार्यवाहक अधीक्षक बनने के बाद उन्होंने दारुल उलूम देवबंद ने क्रांतिकारी बदलाव किया। दारुल उलूम देवबंद के शिक्षक मौलाना सदाकत कासमी ने कहा कि कारी साहब ने शिक्षकों और सभी कर्मचारियों को अपने कर्तव्यों का ईमानदारी से पालन करने की सलाह दी। वह हमेशा दारुल उलूम और शिक्षा के बारे में चिंतित रहते थे वह एक उत्कृष्ट शिक्षक थे। उन्होंने अपने फर्ज़ को अंजाम देने में कभी कोताही नहीं की। जमीयत उलेमा जिला मुजफ्फरनगर के मीडिया प्रभारी कलीम त्यागी ने कहा कि ऐसे महान व्यक्तित्व का हमारे बीच से उठना बड़े दुख की बात है।. मौलाना सैयद उस्मान मंसूरपुरी सभी के साथ अच्छा व्यवहार करते थे और उनकी बातों पर ध्यान देते थे। उन्होंने दारुल उलूम और जमीयत उलेमा-ए-हिंद के मंच से अमूल्य सेवाएं प्रदान कीं। उपरोक्त सभी सदस्यों ने कारी सैयद उस्मान के लिए मग़फिरत की दुआ की उनके परिवार के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की।

इसके अलावा, डॉ शमीमुल-हसन, मौहम्मद इकराम कस्सार, बदरुज़्ज़मां ख़ान, कारी सलीम मेहरबान, हाजी अजीजुर्रहमान, मौलाना मूसा कासमी, हाफिज मोहम्मद फुरकान असअदी, मौलाना शाहनवाज और कारी कलीम कासमी ने भी श्रद्धांजलि अर्पित की।

No comments:

Featured Post

ग्राहकों को मिलेगी अब हाल मार्क मानक के अनुसार ज्वैलरी

मुजफ्फरनगर। ज्वेलरी को हॉल मार्क में शामिल करने के लिए वर्षों से सरकार से की जा रही अपील पर सर्राफा बाजार एसोसिएशन द्वारा ज्वेलरी की शुद्धता...