Sunday, May 9, 2021

चुनावी रंजिश में एक व्यक्ति की हत्या



मुजफ्फरनगर । चुनाव के बाद अब ग्रामीण क्षेत्रों में चुनावी रंजिशें शुरू हो गई है। जिसके चलते आज दिन में हार जीत को लेकर कहासुनी हुई । शाम के समय जीते हुए पक्ष के एक व्यक्ति की हत्या कर आरोपी मौक़े से फरार हो गया। 

बुढाना थाना क्षेत्र में चुनावी रंजिश के चलते ग्रामीण की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इससे पहले दोनों पक्षों के बीच पथराव हुआ और फायरिंग हुई।इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंच गई। हमलावर यहां से फरार होने में कामयाब हो गए।बताया जाता है कि दोपहर के समय भी दोनों पक्षों के बीच मारपीट हुई थी। लेकिन पुलिस ने कार्रवाई करने की बजाय दोनों पक्षों को पुलिस चौकी में बुलाकर समझौता करा दिया था। बताया जाता है कि जिला पंचायत सदस्य पद पर गांव का ही जुल्फिकार चुनाव लड़ा था। जुल्फिकार व उसका पक्ष का ग्राम प्रधान प्रत्याशी दोनों हार गए थे।बताते हैं कि दोपहर के समय जुल्फीकार का पुत्र आदिल आटा चक्की से लौट रहा था। रास्ते में विजयी पक्ष का कामिल  सड़क किनारे बैठा था।जहां हार- जीत को लेकर दोनों पक्षों में विवाद हुआ और मारपीट हो गई।कामिल पक्ष के तैमूर व जाहिर आदि ने जुल्फिकार पक्ष पर हमला कर दिया। आरोप है कि दोनों पक्षों के बीच जमकर फायरिंग हुई और लाठी डंडे चले। इस बीच कामिल पक्ष से जुड़ा ग्रामीण काल का ग्रास बन गया। मौके पर ही दूसरे पक्ष के लोगों ने कामिल पक्ष के तैमूर के शरीर को सटाकर बंदूक से गोली मार दी। मौके पर ही तैमूर की मौत हो गई बताया जाता है। कि इससे पहले ही पुलिस यहां पहुंच चुकी थी। लेकिन पुलिस के सामने भी हमलावर नहीं माने और मनमानी अड़े रहे । इस घटना के बाद गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है । देर शाम शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। इस मामले में स्थानीय पुलिस की लापरवाही को लेकर सोशल मीडिया पर तरह-तरह की चर्चाओं का बाजार गरम हो रहा है।

No comments:

Featured Post

सुनील बंसल ने भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं को दी ये हिदायत

लखनऊ । भाजपा के बूथ से लेकर मंडल व जिले के सभी पदाधिकारी सरकार और संगठन के कार्यों को जन.जन तक पहुंचाने का काम करें। 2017 और 2019 से अब तक प...