Wednesday, May 19, 2021

कोविड-19 के साथ-साथ प्रदेश भर में ब्लैक फंगस कहर, मौते भी बढ़ी

 लखनऊ l प्रदेश में ब्लैक फंगस का कहर बहुत तेजी से बढ़ रहा है। यहां करीब 150 मामले सामने आ चुके हैं। सबसे ज्यादा लखनऊ और मेरठ मंडल ब्लैक फंगस से प्रभावित है। लखनऊ में अब तक 55 और मेरठ में 52 मरीजों में ब्लैक फंगस की पुष्टि हो चुकी है। वाराणसी में 30 से ज्यादा मरीज सामने आ चुके हैं। 


लखनऊ में केजीएमयू में 18 घंटे में चार मरीजों की सांसें थम गई। अब तक 55 मरीजों में ब्लैक फंगस की पुष्टि हो चुकी है। इनमें सात मरीजों की मौत हो चुकी हैं। केजीएमयू में ब्लैक फंगस के 34 मरीज भर्ती हैं। सोमवार रात से मरीजों की मौत का सिलसिला शुरू हुआ जो मंगलवार शाम तक जारी रहा।

इनमें रायबरेली निवासी 40 वर्षीय महिला, अयोध्या की 52 वर्षीय महिला और लखीमपुर खीरी निवासी 50 वर्षीय महिला की जान चली गई। हरदोई के 37 वर्षीय पुरुष ने भी इसी बीमारी से दम तोड़ दिया। केजीएमयू प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह के मुताबिक मंगलवार को ब्लैक फंगस पीड़ित तीन मरीजों को भर्ती किया गया है। वहीं चार मरीजों के ऑपरेशन किए गए हैं। ब्लैक फंगस को हरा चुके एक मरीज को डिस्चार्ज किया गया है।

यूपी में ब्लैक फंगस का कहर तेजी से बढ़ रहा है। यहां करीब 150 मामले सामने आ चुके हैं। सबसे ज्यादा लखनऊ और मेरठ ब्लैक फंगस से प्रभावित है। लखनऊ में अब तक 55 और मेरठ में 52 मरीजों में ब्लैक फंगस की पुष्टि हो चुकी है। वाराणसी में 30 से ज्यादा मरीज सामने आ चुके हैं। 

लखनऊ में केजीएमयू में 18 घंटे में चार मरीजों की सांसें थम गई। अब तक 55 मरीजों में ब्लैक फंगस की पुष्टि हो चुकी है। इनमें सात मरीजों की मौत हो चुकी हैं। केजीएमयू में ब्लैक फंगस के 34 मरीज भर्ती हैं। सोमवार रात से मरीजों की मौत का सिलसिला शुरू हुआ जो मंगलवार शाम तक जारी रहा।

इनमें रायबरेली निवासी 40 वर्षीय महिला, अयोध्या की 52 वर्षीय महिला और लखीमपुर खीरी निवासी 50 वर्षीय महिला की जान चली गई। हरदोई के 37 वर्षीय पुरुष ने भी इसी बीमारी से दम तोड़ दिया। केजीएमयू प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह के मुताबिक मंगलवार को ब्लैक फंगस पीड़ित तीन मरीजों को भर्ती किया गया है। वहीं चार मरीजों के ऑपरेशन किए गए हैं। ब्लैक फंगस को हरा चुके एक मरीज को डिस्चार्ज किया गया है।

मेरठ में मंगलवार को ही ब्लैक फंगस के 24 नए मामले सामने आए। अब जिले में कुल केस 52 हो गए हैं। चार मरीजों की अब तक मौत हो चुकी है, जिसमें एक संदिग्ध है। एक मरीज स्वस्थ होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हो गया है। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, कनग ईएनटी सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल में दो, विजन केयर आई सेंटर में एक, आनंद हॉस्पिटल में दो, एलएलआरएम मेडिकल कॉलेज में आठ समेत कुल 22 मरीज विभिन्न अस्पतालों में भर्ती हुए हैं। लोकप्रिय हॉस्पिटल में ब्लैक फंगस के तीन संदिग्ध मरीज हैं। एक संदिग्ध मरीज की मौत हो गई है। डॉक्टरों के अनुसार, ज्यादातर मरीज कोरोना संक्रमित और मधुमेह के शिकार हैं। 

न्यूटिमा में भर्ती एक मरीज की मंगलवार को आंखों की रोशनी चली गई। उसकी चेहरे और जबड़े की सर्जरी करनी पड़ी है। केएमसी, साईं, लोकप्रिय, सिरोही हॉस्पिटल से पांच मरीज हायर सेंटर रेफर किए गए हैं। विजन केयर हॉस्पिटल में आए मोदीनगर के लक्ष्मण को गंभीर हालत देख एम्स दिल्ली भेज दिया गया। चार अन्य मरीज एक निजी क्लीनिक में हैं, जिसकी जांच की जा रही है। उसमें एक-एक रोहटा और राधना का है।

No comments:

Featured Post

सपा यूथ ब्रिगेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने दिया बूथ जीतने का मंत्र

मुजफ्फरनगर । सपा कार्यालय पर मुलायम सिंह यादव यूथ ब्रिगेड राष्ट्रीय अध्यक्ष सिद्धार्थ सिंह ने कार्यकर्ताओं को बूथ जीतने का मंत्र दिया।  उनके...