ऐसे चल रहा था वाझे का वसूली अड्डा


मुंबई। नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) की जांच में खुलासा हुआ है कि वाझे कथित वसूली रैकेट को नरीमन पॉइंट स्थित एक फाइव स्टार होटल से चला रहा था। यहां उसके लिए एक बिजनेसमैन ने 12 लाख में एक रूम 100 दिनों के लिए बुक किया था। 

एक रिपोर्ट के मुताबिक वाझे ने होटल में कमरा फेक आईडी पर लिया था। जांच एजेंसी एंटीलिया बम केस और मनसुख हिरेन की हत्या केस में वाझे की भूमिका की जांच कर रही है। सस्पेंड किए जा चुके वाझे के अलावा एजंसी ने कई और पुलिसकर्मियों से पूछताछ की है। एनआईए अधिकारियों ने बताया कि इनमें से कुछ और लोगों को गिरफ्तार किया जा सकता है। 

जांच में पता चला है कि वाझे इस होटल के रूम नंबर 1964 से अपने काले कामों को अंजाम दे रहा था। उसने सुशांत सदाशिव खाममकार नाम वाले आधार कार्ड के जरिए यहां चेक इन किया था। एनआईए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ''एक कारोबारी ने होटल में यह कमरा 100 दिनों के लिए 12 लाख में बुक किया था। वाझे किसी विवाद में इस कारोबारी की मदद कर रहा था।'' अधिकारी ने यह भी बताया कि बुकिंग एक ट्रेवल एजेंट के जरिए कराई गई ती। क्राइम बॉन्च में ड्यूटी के दौरान वाझे यहां फरवरी में रहता था।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा