ये दवा कोरोना में असरदार, मिली मंजूरी


नई दिल्ली। कोरोना के हल्के लक्ष्ण में कारगर दवा Virafin को भारतीय दवा रेग्युलेटर DCGI (Drugs Controller General of India) ने मंजूरी दे दी है। जायडस कैडिला का कहना है कि दवाई खाने के बाद 7 दिन में RT-PCR टेस्ट निगेटिव हो गया। ऐसा 91.15 फीसदी रोगियों के साथ हुआ है। 

91.15 फीसदी असरदार होने का दा

कंपनी का दावा है कि Pegylated Interferon Alpha 2b (Verifin) दवा 18 वर्ष के अधिक के हल्के लक्षण वाले मरीजों पर असरदार साबित हुई है। क्लिनिकल ट्रायल में दवा के 91.15 फीसदी तक रिजल्टस मिले हैं।

जाइडस कैडिला की एंटी-वायरल दवा विराफिन का इस्तेमाल हैपेटाइटिस सी और बी के इलाज में किया जाता है। इस दवा का मेडिकल नाम 'पेजिलेटेड इंटरफेरन अल्फा-2बी' यानी PegIFN है। हैपेटाइटिस के इलाज में इसके कई डोज दिए जाते हैं। डीसीजीआई ने इसे वयस्कों में कोरोना वायरस के मध्यम संक्रमण के इलाज में इस्तेमाल करने की मंजूरी दे दी है। ऐसा इसके क्लीनिकल ट्रायल के नतीजों के आधार पर किया गया है। कोरोना के इलाज में इसके सिंगल डोज का इस्तेमाल होगा। स्पष्ट है कि इस दवा का मूल तौर पर इस्तेमाल हैपेटाइटिस के इलाज में होता है। अब इसे कोरोना के इलाज के लिए रीपर्पज्ड किया गया है।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा