Wednesday, March 10, 2021

आज का पंचांग एवँ राशिफल 10 मार्च 2021

 


🌞 ~ *आज का हिन्दू पंचांग* ~ 🌞

⛅ *दिनांक 10 मार्च 2021*

⛅ *दिन - बुधवार*

⛅ *विक्रम संवत - 2077*

⛅ *शक संवत - 1942*

⛅ *अयन - उत्तरायण*

⛅ *ऋतु - वसंत*

⛅ *मास - फाल्गुन (गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार - माघ)*

⛅ *पक्ष - कृष्ण* 

⛅ *तिथि - द्वादशी दोपहर 02:40 तक तत्पश्चात त्रयोदशी*

⛅ *नक्षत्र - श्रवण रात्रि 09:03 तक तत्पश्चात धनिष्ठा*

⛅ *योग - परिघ सुबह 10:37 तक तत्पश्चात शिव*

⛅ *राहुकाल - दोपहर 12:39 से दोपहर 02:18 तक* 

⛅ *सूर्योदय - 06:52* 

⛅ *सूर्यास्त - 18:45* 

(सूर्योदय और सूर्यास्त के समय मे जिलेवार अंतर संभव है)

⛅ *दिशाशूल - उत्तर दिशा में*

⛅ *व्रत पर्व विवरण - प्रदोष व्रत*

 💥 *विशेष - द्वादशी को पूतिका(पोई) अथवा त्रयोदशी को बैंगन खाना माना होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*

               🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞




🌷 *महाशिवरात्रि* 🌷

➡ *11 मार्च 2021 गुरुवार को महाशिवरात्रि है ।*

🙏🏻 *शिवरात्रि का व्रत, पूजन, जागरण और उपवास करनेवाले मनुष्य का पुनर्जन्म नहीं होता है। (स्कंद पुराण)*

🙏🏻 *शिवरात्रि के समान पाप और भय मिटानेवाला दूसरा व्रत नहीं है। इसको करनेमात्र से सब पापों का क्षय हो जाता है। (शिव पुराण)*

                🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞


 🌷 *शिवरात्रि के दिन करने योग्य विशेष बातें*

🙏🏻 *१. शिवरात्रि के दिन की शुरुआत ये श्लोक बोल के शुरू करें :-*

🌷 *देव देव महादेव नीलकंठ नमोस्तुते l*

*कर्तुम इच्छा म्याहम प्रोक्तं, शिवरात्रि व्रतं तव ll*

🙏🏻 *2. काल सर्प के लिए महाशिवरात्रि के दिन घर के मुख्य दरवाजे पर पिसी हल्दी से स्वस्तिक बना देना....शिवलिंग पर दूध और बिल्व पत्र चढ़ाकर जप करना और रात को ईशान कोण में मुख करके जप करना l*

🙏🏻 *3. शिवरात्रि के दिन ईशान कोण में मुख करके जप करने की महिमा विशेष है, क्योंकि ईशान के स्वामी शिव जी हैं l रात को जप करें, ईशान को दिया जलाकर पूर्व के तरफ रखें , लेकिन हमारा मुख ईशान में हो तो विशेष लाभ होगा l जप करते समय झोका आये तो खड़े होकर जप करना l*

🙏🏻 *4. महाशिवरात्रि को कोई मंदिर में जाकर शिवजी पर दूध चढाते हैं तो ये ५ मंत्र बोलें :-*

🌷 *ॐ हरये नमः*

🌷 *ॐ महेश्वराए नमः*

🌷 *ॐ शूलपानायाय नमः*

🌷 *ॐ पिनाकपनाये नमः*

🌷 *ॐ पशुपतये नमः*

          🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞


🌷 *महाशिवरात्रिः कल्याणमयी रात्रि* 🌷

🙏🏻 *'स्कन्द पुराण' के ब्रह्मोत्तर खंड में आता है कि 'शिवरात्रि का उपवास अत्यंत दुर्लभ है। उसमें भी जागरण करना तो मनुष्यों के लिए और दुर्लभ है। लोक में ब्रह्मा आदि देवता और वसिष्ठ आदि मुनि इस चतुर्दशी की भूरि भूरि प्रशंसा करते हैं। इस दिन यदि किसी ने उपवास किया तो उसे सौ यज्ञों से अधिक पुण्य होता है।'*

🙏🏻 *'शिव' से तात्पर्य है 'कल्याण' अर्थात् यह रात्रि बड़ी कल्याणकारी रात्रि है। इस रात्रि में जागरण करते हुए ॐ.... नमः.... शिवाय... इस प्रकार, प्लुत जप करें, मशीन की नाईं जप पूजा न करें, जप में जल्दबाजी न हो। बीच-बीच में आत्मविश्रान्ति मिलती जाय। इसका बड़ा हितकारी प्रभाव अदभुत लाभ होता है।*

🙏🏻 *शिवपूजा में वस्तुओं का कोई महत्त्व नहीं है, भावना का महत्त्व है। भावे ही विद्यते देव.... चाहे जंगल या मरूभूमि में क्यों न हो, वहाँ रेती या मिट्टी के शिवजी बना लिये, उस पर पानी के छींटे मार दिये, जंगली फूल तोड़कर धर दिये और मुँह से ही नाद बजा दिया तो शिवजी प्रसन्न हो जाते हैं।*

🙏🏻 *आराधना का एक तरीका यह है कि उपवास रखकर पुष्प, पंचामृत, बिल्वपत्रादि से चार प्रहर पूजा की जाय।*

🙏🏻 *दूसरा तरीका यह है कि मानसिक पूजा की जाय। हम मन-ही-मन भावना करें-*

🌷 *ज्योतिर्मात्रस्वरूपाय निर्मलज्ञानचक्षुषे।*

*नमः शिवाय शान्ताय ब्रह्मणे लिंगमूर्तये।।*

🙏🏻 *'ज्योतिमात्र (ज्ञानज्योति अर्थात् सच्चिदानंद, साक्षी) जिनका स्वरूप है, निर्मल ज्ञान ही जिनका नेत्र है, जो लिंगस्वरूप ब्रह्म है, उन परम शांत कल्याणमय भगवान शिव को नमस्कार है।'*

🙏🏻 *महाशिवरात्रि की रात्रि में ॐ बं, बं.... बीजमंत्र के सवा लाख जप से गठिया जैसे वायु विकारों से छुटकारा मिलता है।*

🙏🏻 

                🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞


🌷 *शिवरात्रि की रात 'ॐ नमः शिवाय' जप*

🙏🏻 *शिवजी का पत्रम-पुष्पम् से पूजन करके मन से मन का संतोष करें, फिर ॐ नमः शिवाय.... ॐ नमः शिवाय.... शांति से जप करते गये। इस जप का बड़ा भारी महत्त्व है। अमुक मंत्र की अमुक प्रकार की रात्रि को शांत अवस्था में, जब वायुवेग न हो आप सौ माला जप करते हैं तो आपको कुछ-न-कुछ दिव्य अनुभव होंगे। अगर वायु-संबंधी बीमारी हैं तो 'बं बं बं बं बं' सवा लाख जप करते हो तो अस्सी प्रकार की वायु-संबंधी बीमारियाँ गायब !*

🙏🏻 *ॐ नमः शिवाय मंत्र तो सब बोलते हैं लेकिन इसका छंद कौन सा है, इसके ऋषि कौन हैं, इसके देवता कौन हैं, इसका बीज क्या है, इसकी शक्ति क्या है, इसका कीलक क्या है – यह मैं बता देता हूँ। अथ ॐ नमः शिवाय मंत्र। वामदेव ऋषिः। पंक्तिः छंदः। शिवो देवता। ॐ बीजम्। नमः शक्तिः। शिवाय कीलकम्। अर्थात् ॐ नमः शिवाय का कीलक है 'शिवाय', 'नमः' है शक्ति, ॐ है बीज... हम इस उद्देश्य से (मन ही मन अपना उद्देश्य बोलें) शिवजी का मंत्र जप रहे हैं – ऐसा संकल्प करके जप किया जाय तो उस संकल्प की पूर्ति में मंत्र की शक्ति काम देगी।*

               🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~*पंचक 🌞11 मार्च प्रात: 9.19 बजे से 16 मार्च प्रात: 4.45 बजे तक

7 अप्रैल दोपहर 3 बजे से 12 अप्रैल प्रात: 11.30 बजे तक


जया एकादशी मंगलवार, 23 फरवरी 2021

विजया एकादशी मंगलवार, 09 मार्च 2021

आमलकी एकादशी गुरुवार, 25 मार्च 2021


24 फरवरी: प्रदोष व्रत


10 मार्च: प्रदोष व्रत


26 मार्च: प्रदोष व्रत


माघ पूर्णिमा 27 फरवरी, शनिवार

फाल्गुन पूर्णिमा 28 मार्च, रविवार


फाल्गुनी अमावस्या- शनिवार, 13 मार्च 2021.

🙏🏻🌷💐🌻🌹🌺🍀🌸🌼🙏🏻मेष

आज का दिन आपके लिए मिलाजुला रहेगा। काफी संघर्षों के बाद आज आपको अपनी परेशानियों से राहत मिलती नजर आ रही है। धीरे-धीरे भाग्य का उदय हो रहा है और बढ़ते हुए आर्थिक कष्ट से भी आप को मुक्ति मिलेगी। यदि आप कोई छोटा-मोटा व पार्ट टाइम कारोबार करना चाहते हैं, तो उसके लिए भी समय निकालना आसान होगा। आज आपकी महत्वाकांक्षाओं की पूर्ति का भी दिन है, लेकिन आपको प्रयत्नशील रहना होगा। व्यापार के लिए आज पास व दूर की यात्रा भी कर सकते हैं। जीवन साथी के स्वास्थ्य में कोई गिरावट देखने को मिल सकती है।

वृष 

आज का दिन आपके लिए उत्तम फलदायक रहेगा। आपके परिवार में किसी शुभ व मांगलिक कार्यक्रम पर परिवार के बुजुर्गों से सलाह मशविरा हो सकता है। शाम के समय आज किसी मेहमान का आगमन हो सकता है, जिससे मन में प्रसन्नता का भाव रहेगा। अपने जीवन स्तर को सुधारने के लिए फिलहाल स्थाई प्रयोग में आने वाली वस्तुओं की खरीदारी करनी होगी, जिससे आपका धन भी अधिक व्यय होगा। संतान के भविष्य के आप थोड़ी चिंता सता सकती है

मिथुन 

आज आपका व्यापार तेजी से गति पकड़ेगा, जिससे आपके धन लाभ के सभी मार्ग खुलेंगे और आप अपनी आर्थिक स्थिति को बहुत ही मजबूत बनाएंगे। अपनी प्रगति को आप को स्थाई रूप से बनाए रखना होगा। आज आप को व्यर्थ के कार्यों से दूर रहना होगा। विद्यार्थियों को शिक्षा में अपने मित्रों का सहयोग मिलेगा।

कर्क

आज आपको अपने भाई व बहनों की चिंता सता सकती है, इसलिए आप उनका पूरा ध्यान रखें। यदि सबकी सहमति हो और कहीं स्थान परिवर्तन का विचार बनें, तो अवश्य जाएं। इससे आपके मन को शांति मिलेगी। जीवनसाथी ऐसे समय में आपका भरपूर साथ देंगे। आज आपको अपनी आर्थिक स्थिति की भी थोड़ी चिंता हो सकती है, इसलिए अपने खर्चों पर नियंत्रण रखें। विद्यार्थी आज अपने गुरुजनों व मित्रों के साथ पार्टी का आयोजन भी कर सकते हैं।

सिंह 

आज का दिन आपको अपने आलस्य को त्यागना होगा, तभी आप अपने नौकरी व व्यवसाय के क्षेत्र में चल रहे कार्य को पूर्ण करने में सफल होंगे और अपने काम पर ध्यान केंद्रित करना होगा। आज आपको अपने कारोबार की विशेष रूप से चिंता हो सकती है क्योंकि कुछ समय से आपका व्यवसाय नियमित रूप से नहीं है। अस्थिरता आपका पीछा नहीं छोड़ रही है। आज आप अपने पिताजी व वृद्धजनों की सलाह से व्यापार को आगे बढ़ाने के लिए नए-नए आइडिया ढूंढ लेंगे।

कन्या

आज का दिन आपका भागदौड़ से भरा रहेगा, लेकिन भागदौड़ के नतीजे भी आपको लाभदायक ही मिलेंगे, तभी आप अपने कार्यों को उत्साह पूर्ण पूरा करेंगे, लेकिन कुछ समय बाद इसमें आपको बेहतरीन अनुबंध प्राप्त होगा, जिससे आपको मानसिक शांति मिलेगी। संतान के विवाह के लिए आज अच्छे प्रस्ताव आएंगे। आज शाम का समय आप अपने मित्रों के साथ धर्म-कर्म के कार्य में व्यतीत करेंगे।

तुला 

आज आपके सामाजिक व राजनीतिक क्षेत्र में कुछ विरोधी आपके सामने आकर खड़े हो सकते हैं, लेकिन आप अपने साहस और बुद्धिमानी से इन लोगों को पराजित करने में सफल रहेंगे, लेकिन आपको अपने मन की दुर्बलता और दुर्गुणों का त्याग करना होगा। आज आपको कुछ अकारण चिंता परेशान कर सकती है। इसमें कुछ चिंता तो वास्तविक होंगी, लेकिन कुछ को आप खुद ही पैदा करेंगे। परिवार में आज कोई शुभ मांगलिक कार्यक्रम हो सकता है, जिसमें परिवार के सभी सदस्य व्यस्त नजर आएंगे।

वृश्चिक 

आज का दिन आपके लिए मिश्रित रूप से फलदायक रहेगा। कार्य व्यवसाय के क्षेत्र में आए तनाव को अपने ऊपर हावी ना होने दें, नहीं तो आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। बनते बिगड़ते परिवेश में नवीन योजना आज सफल होगी। आपके कुछ पुराने झंझट चल रहे हैं, जिससे आज आपको छुटकारा मिलेगा, लेकिन आपको अपने मन में निराशा जनक विचारों को नहीं आने देना है, तभी समय आपके लिए अनुकूल रहेगा। यदि आप कहीं निवेश करना चाहते हैं, तो उसके लिए समय उत्तम है, जिसमें भाग्य का भी भरपूर साथ मिलेगा।

धनु 

यदि आपका कहीं रुका हुआ धन है और आप उसे प्राप्त करना चाहते हैं, तो वह आपको बहुत कठिनाई से मिलेगा, लेकिन रोजमर्रा के काम में आपको कोताही बिल्कुल नहीं ना बरतें। व्यवसाय की उन्नति से आपका आत्मविश्वास चरम पर होगा। आज आप अपने घर के घरेलू सामान की खरीदारी में ज्यादा समय लगा सकते हैं, जिससे धन भी अधिक व्यय होगा। जीवन साथी से प्रेम प्रसंग प्रबल होगा।

मकर 

जो लोग क्रय विक्रय का व्यापार करते हैं, उनको आज भरपूर लाभ होगा। शुभ समाचार भी दिनभर प्राप्त होते रहेंगे। मित्रों से हास्य विनोद भी बढ़ेगा, लेकिन आपको व्यर्थ के झगड़े में पड़ने से बचना होगा, नहीं तो यह आपका मूड खराब कर सकते हैं। आज आप धार्मिक स्थानों की यात्रा पर भी जाने का सोच सकते हैं। माताजी की सेहत के प्रति सचेत रहें। उनके खान-पान का ध्यान रखें।

कुंभ 

आज अध्यात्म और धर्म के प्रति आपकी रूचि बढ़ेगी। यात्रा और मंगलोत्सब का सहयोग बनता दिख रहा है। समय के सदुपयोग से आपका सितारा बुलंद होगा। आपकी नौकरी में उच्च अधिकारियों के सहयोग से आज आपको लाभ उठाने का शुभ अवसर प्राप्त होगा। आपकी आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होगी। यदि आज किसी को धन उधार देना पड़े, तो कतई ना दें क्योंकि उससे मिलने की संभावना बहुत कम है। अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने में आज आपको अपने पिताजी की सलाह की आवश्यकता है।

मीन 

आज आपको अपने माता-पिता व गुरु जी की सेवा का अवसर प्राप्त होगा। उन्नति की क्षेत्र में आज कई मार्ग खुलेंगे। अध्ययन और अध्यात्म में रूचि बढ़ना स्वाभाविक है, लेकिन आज आप को शत्रु व द्वेष रखने वाले साथियों से सावधान रहना होगा। परिवार में आज कोई विवाद की स्थिति उत्पन्न हो सकती है, लेकिन बड़े बुजुर्गों की सलाह से वह शाम के समय समाप्त हो जाएगा। आपको अपने जीवन में उन्नति के लिए नए-नए मार्ग प्राप्त होंगे


जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं


दिनांक 10 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 1 होगा। आप राजसी प्रवृत्ति के व्यक्ति हैं। आपको अपने ऊपर किसी का शासन पसंद नहीं है। आप साहसी और जिज्ञासु हैं। आपका मूलांक सूर्य ग्रह के द्वारा संचालित होता है। आप सौन्दर्यप्रेमी हैं। आपमें सबसे ज्यादा प्रभावित करने वाला आपका आत्मविश्वास है। इसकी वजह से आप सहज ही महफिलों में छा जाते हैं। आप अत्यंत महत्वाकांक्षी हैं। आपकी मानसिक शक्ति प्रबल है। आपको समझ पाना बेहद मुश्किल है। आप आशावादी होने के कारण हर स्थिति का सामना करने में सक्षम होते हैं। 

 

शुभ दिनांक : 1, 10, 19, 28  

 

शुभ अंक : 1, 10, 19, 28, 37, 46, 55, 64, 73, 82 



  

शुभ वर्ष : 2026, 2044, 2053, 2062  

 

ईष्टदेव : सूर्य उपासना तथा मां गायत्री  


 

शुभ रंग : लाल, केसरिया, क्रीम, 

 

कैसा रहेगा यह वर्ष

स्वास्थ्य की दृष्टि से यह वर्ष उत्तम रहेगा। पारिवारिक मामलों में महत्वपूर्ण कार्य होंगे। अविवाहितों के लिए सुखद स्थिति बन रही है। विवाह के योग बनेंगे। नौकरीपेशा के लिए समय उत्तम हैं। पदोन्नति के योग हैं। बेरोजगारों के लिए भी खुशखबर है इस वर्ष आपकी मनोकामना पूरी होगी। यह वर्ष आपके लिए अत्यंत सुखद रहेगा। अधूरे कार्यों में सफलता मिलेगी

No comments:

Featured Post

ग्राहकों को मिलेगी अब हाल मार्क मानक के अनुसार ज्वैलरी

मुजफ्फरनगर। ज्वेलरी को हॉल मार्क में शामिल करने के लिए वर्षों से सरकार से की जा रही अपील पर सर्राफा बाजार एसोसिएशन द्वारा ज्वेलरी की शुद्धता...