Sunday, February 7, 2021

उत्तराखंड में तबाही का मंजर, डेढ सौ लापता


नई दिल्ली, देहरादून । उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर फटने से भारी तबाही हुई है। 100-150 लोग के हताहत होने की आशंका जताई जा रही है। तीन शव अभी मिले हैं। अधिकारियों के अनुसार पानी के पांच बजे तक हरिद्वार पहुंचेगा।

बचाव एवं राहत कार्य के लिए आईटीबीपी और एनडीआरएफ के दलों को उत्तराखंड के बाढ़ प्रभावित इलाकों की ओर रवाना कर दिया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से बात की है। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में बचाव कार्यों में मदद के लिए देहरादून और आस-पास के क्षेत्रों में वायुसेना के दो एमआई-17 और एक एएलएच ध्रुव हेलिकॉप्टरों को भेजा गया हैं। इसके अलावा एनडीआरएफ की कुछ और टीमें दिल्ली से एयरलिफ्ट करके उत्तराखंड भेजी जा रही हैं।

उत्तराखंड में तबाही के मंजर के बीच एनडीआरएफ के डीजी एसएन प्रधान ने बताया कि चमोली और जोशीमठ के आसपास ग्लेशियर फटने से ऋषिगंगा बांध पर असर हुआ है। ग्लेशियर ऋषिगंगा पर आकर गिरा है, बीआरओ द्वारा जो ब्रिज बनाया जा रहा था उस पर भी असर हुआ है। अलकनंदा नदी के किनारे रहने वाले लोगों को जल्द से जल्द सुरक्षित स्थानों पर जाने की सलाह दी गई है। ऋषिकेश, हरिद्वार समेत कई जगहों पर अलर्ट जारी किया गया है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश में गंगा किनारे के कानपुर और बनारस सहित 27 जिलों में भी अलर्ट जारी किया गया है। गंगा किनारे के क ई गांव खाली करा लिये गये हैं।

No comments: