किसान आंदोलन के तवे पर कांग्रेस सेकने निकलेगी सियासी रोटी


लखनऊ। किसान आंदोलन के बहाने राजनीतिक माहौल में अब कांग्रेस भी अपनी खोई सियासी जमीन खोजने के लिए कूृदने को तैयार है। कांग्रेस नेत्री प्रियंका गांधी वाड्रा दस फरवरी को सहारनपुर में मां शाकुंभरी देवी के दर्शन के साथ इसकी शुरुआत करने वाली हैं। 20 फरवरी को वे मुजफ्फरनगर आ सकती हैं। 

कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में जय जवान-जय किसान अभियान शुरू करने का फैसला किया है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में किसान आंदोलन की मजबूत जमीन तैयार हो चुकी है।भारतीय किसान यूनियन टिकैत गुट के प्रभाव वाले सहारनपुर, शामली, मुजफ्फरनगर, बागपत, हापुड़ समेत कई जिलों में किसान आंदोलन ने पूरा राजनीतिक माहौल ही बदल दिया है। इस इलाके में भारतीय जनता पार्टी के नेताओं को चेहरा बचाकर गुजरना पड़ रहा है। सैकड़ों गांवों के लोग रोजाना ग़ाज़ीपुर बॉर्डर पर किसान आंदोलन का समर्थन करने पहुंच रहे हैं। ऐसे में कांग्रेस ने अब गांव-गांव किसान आंदोलन की रूपरेखा कांग्रेस ने तय कर ली है। हर जिले के तहसीलों के बड़े गांवों से जय जवान-जय किसान अभियान की शुरुआत कांग्रेस कर रही है। राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि कांग्रेस के लिए पश्चिमी यूपी मजबूत जमीन रही है। कई बड़े कांग्रेसी नेता पश्चिमी यूपी की राजनीति में मजबूत दखल रखते हैं। कांग्रेस इस अभियान से किसान जातियों खासकरके हिन्दू मुस्लिम जाटों और गुर्जरों में कांग्रेस मजबूत पकड़ बनाने की रणनीति पर काम कर रही है। 

कांग्रेस इस अभियान के तहत उन जिलों को प्राथमिक तौर पर टारगेट किया है जहां पर मजबूत किसान राजनीति का आधार रहा है। साथ ही साथ इन जिलों में किसान आन्दोलन का अच्छा खासा प्रभाव रहा है। सहारनपुर, शामली, मुज़फ्फरनगर, बागपत, मेरठ, बिजनौर, हापुड़, बुलंदशहर, अलीगढ़, हाथरस, मथुरा, आगरा, फीरोजाबाद, बदायूं, बरेली, रामपुर, पीलीभीत, लखीमपुर खीरी, सीतापुर, हरदोई समेत 27 जिलों जय जवान जय किसान अभियान मजबूती से शुरू हो रहा है।

महासचिव प्रियंका गांधी समेत सभी वरिष्ठ नेता अभियान में करेंगे शिरकत

सूत्रों के हवाले से यह भी तय माना जा रहा है कि सहारनपुर में 10 फरवरी को जय जवान जय किसान अभियान के लिए नकुड़ तहसील ने महासचिव प्रियंका गांधी पहुंच रही हैं। गौरतलब है कि महासचिव प्रियंका गांधी पिछले दिनों रामपुर के बिलासपुर के शहीद किसान नवरीत सिंह के अंतिम अरदास में पहुंची थीं। महासचिव ने अंतिम अरदास में कहा था कि सरकार को हरहाल में किसान विरोधी कानून वापस लेना ही होगा। शहीद हुए किसानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी।

10 दिवसीय जय जवान-जय किसान अभियान में यूपी समेत देश के कई बड़े नेता शामिल होंगे। निर्मल खत्री, प्रमोद तिवारी, हरेंद्र मलिक, इमरान मसूद, राजबब्बर, दीपक सिंह, नसीमुद्दीन सिद्दीकी, राकेश सचान, प्रदीप आदित्य जैन सचिन पायलट, रणदीप सुरजेवाला, हार्दिक पटेल, नवजोत सिंह सिद्धू, दीपेंद्र हुड्डा, शामिल होंगे। साथ ही साथ प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और नेता विधानमंडल दल आराधना मिश्रा विभिन्न जिलों में होने वाले कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे।

यूपी कांग्रेस ने अभी पिछले दिनों अपने ब्लॉक कमेटी और न्यायपंचायत की बैठकें पूरी की है। यूपी कांग्रेस ने ब्लॉक और न्यायपंचायत स्तर पर 28575 कार्यकर्ताओं की मजबूत टीम तैयार कर ली जिसके जरिये अपने अभियानों और कार्यक्रमों को मजबूती से कर रही है। पिछले दिनों विधानसभा वार पदयात्रा में संगठन की ताकत दिखी थी।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा