अधिवक्ता की पत्नी ने की आत्महत्या


 मेरठ। एक अधिवक्ता की पत्नी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले की जानकारी ली। बाद में शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। प्रथम दृष्टया पुलिस की जांच में आत्महत्या के पीछे प्रेम प्रसंग का विवाद बताया जा रहा है।

गंगानगर जेएफ 198 में तोपखाना के मूल निवासी हरीश यादव पुत्र रमेश कुमार सपरिवार किराए पर रहते हैं। वह मेरठ कचहरी में अधिवक्ता सुनील कुमार राणा के साथ जूनियरशिप कर रहे हैं। किराए के मकान में उनकी पत्नी सरिता यादव व उनके दो बच्चे दिव्यांशी और प्रियांशु साथ रहते हैं। शनिवार व रविवार दो दिनों के लिए दोनों बच्चों को उनके दादा-दादी के पास छोड़ दिया जाता है।

शनिवार सुबह हरीश यादव कचहरी के लिए निकल गए थे। शनिवार दोपहर मकान मालिक नरेंद्र कुमार ने हरीश को फोन पर सूचना दी कि उनकी पत्नी फांसी पर लटकी हुई है। वह कचहरी से आनन-फानन में घर पहुंचे तो उनके होश उड़ गए। उन्होंने पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद शव को नीचे उतारा गया अधिवक्ता की पत्नी सरिता ने पंखे से दुपट्टे के सहारे आत्महत्या की। मौके पर सीओ सदर देहात पूनम सिरोही भी पहुंची और अधिवक्ता से उनकी पत्नी के विवाद के बारे में जानकारी ली। 

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा