किसान कल्याण मिशन में किसानों की आय दोगुना करने की कवायद शुरू होगी


मुजफ्फरनगर। मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा यह संकल्प लिया गया है कि किसानों की वर्तमान आय को दोगुना करने का प्रयास किया जायेगा। इस संकल्प को पूरा करने हेतु यह निर्णय लिया गया है कि जनपद में कृषि व कृषि आधारित अन्य गतिविधियों जिनमें पशुपालन, बागवानी, गन्ना, इत्यादि तथा लघु, सुक्ष्म एंव मध्यम उद्यमिता इकाईयों को विकसित कर गतिविधियों के माध्यम से किसान कल्याण तथा किसान की आमदनी दोगुना करने का एक अभियान किसान कल्याण मिशन के रूप में चलाया जायेगा। कार्यक्रम आयोजित किये जाने का सम्पूर्ण उत्तरदायित्व सम्बन्धित खण्ड विकास अधिकारी, का होगा सहायक विकास अधिकारी(कृषि)/कृषि रक्षा अपने खण्ड विकास अधिकारी के मार्गदर्शन में कार्य करेगें, और सम्बन्धित उप सम्भागीय कृषि प्रसार अधिकारी से समन्वय बनाये रखेगें, खण्ड विकास अधिकारी यह भी सुनिश्चित करेगा कि कार्यक्रम का आयोजन विकास खण्ड परिसर में ही हो, यदि किसी विकास खण्ड परिसर में स्थानाभाव के कारण  आयोजन कराना सम्भव न हो तो वे विकास खण्ड स्थल के निकटतम किसी उपयुक्त स्थल का चयन करेगें।

मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव विकास भवन में कल से प्रारम्भ हो रहे किसान कल्याण मिशन कार्यक्रम के सम्बन्ध में अधिकारियांे के साथ आवश्यक बैठक कर रहे थे।

उन्होने निर्देश दिये कि सम्बन्धित विषय वस्तु विशेषज्ञ का उत्तरदायित्व होगा कि वह कार्यक्रम कर सफलता के लिए उप सम्भागीय कृषि प्रसार अधिकारी के मार्गदर्शन में तत्परता से कार्य करेगें और आवश्यकतानुसार आयोजन के विभिन्न कार्यो को सम्पादित करने का कार्य अपने अन्य कार्मियों (प्राविधिक सहायक ग्रुप-सी/बी0टी0एम0/ ए0टी0एम0) को पूर्व में ही आंवटित कर दे। कार्यक्रम में कृषि विभाग द्वारा संचालित योजनाओं को लाभार्थी कृषकों को अधिक से अधिक कृषको को प्रतिभाग कराया जाये। मेला/गोष्ठी में कृषको की अधिक से अधिक प्रतिभागिता सुनिश्चित कराई जाये। उन्होने निर्देश दिये कि कृषि, गन्ना, उद्यान, पशुपालन, मत्स्य पालन, सिंचाई, नलकूप विभाग अपनी विभागीय योजनाओं के लाभार्थियो की उपस्थिति कार्यक्रम स्थल पर सुनिश्चित करेंगे, सिचाई विभाग नहर की सिल्ट सफाई, नहरे चलने की रोस्टर सम्बन्धित जानकारी भी प्रदान करेगें तथा साथ ही साथ सभी सम्बन्धित विभागों द्वारा अपने-अपने विभाग द्वारा देय सुविधाओं के सम्बन्ध में जन साधारण की जानकारी भी प्रदान की जायेगी। सचिव मण्डी समिति मुजफ्फरनगर मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना बीमा योजना, मुख्यमंत्री खेत खलियान अग्नि दुर्घटना बीमा योजना एंव मुख्यमंत्री कृषक छात्रवृत्ति योजना के लाभार्थियो के साथ-साथ कृषक उपहार योजना से आच्छादित लाभार्थियों की सहभागिता सुनिश्चित करायेंगे। कृषि विभाग की आत्मा योजना के अन्तर्गत चिन्हित किये गये अग्रणी कृषकों व प्रगतिशील कृषकों को कार्यक्रम में आमंत्रित किया जाये।

मुख्य विकास अधिकारी ने निर्देश दिये कि कार्यक्रम समन्वयक/प्रभारी अधिकारी कृृषि विज्ञान केन्द्र, मुजफ्फरनगर का दायित्व होगा कि प्रत्येक किसान मेले में कृषि वैज्ञानिकों की उपस्थिति सुनिश्चित करायेंगे जो तकनीकी सत्र में मेले में उपस्थित जनसाधारण/ कृषकों कृषि की समसामयिक जानकारी उपलब्ध करायेंगे। कृषि विज्ञान केन्द्र का यह भी दायित्व होगा कि वह सम्बन्धित विकासखण्ड के मशरूम/शहद उत्पादक कृषकों को तथा ऐसे अन्य कृषकों जिनको उन्होने प्रशिक्षित किया है अथवा वह किसी विशिष्ट कृषि कार्य को कर रहे है, को भी कार्यक्रम में आमंत्रित किया जाये। उन्होने निर्देश दिये कि उप कृषि निदेशक, द्वारा उपस्थित सभी किसान उत्पादक संगठनों (एफ0पी0ओ0) व (एफ0पी0ओ0) के मुख्यकार्यकारी अधिकारी मेले के मंच पर (एफ0पी0ओ0) द्वारा संचालित कृषि गतिविधियों के सम्बन्ध में अपना प्रस्तुतिकरण देंगे। उपायुक्त, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, द्वारा विकासखण्डों में तैनात सहायक विकास अधिकारियो (उद्योग सेवा एंव व्यवसाय-आई0एस0बी0) के माध्यम से जनपद में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत स्थापित स्वंय सहायता समूहों और चयनित कृषि सख्यिों को उपरोक्त आयोजनों में प्रतिभाग कराना सुनिश्चित करें तथा स्वंय सहायता समूह के द्वारा उत्पादित प्रमुख उत्पादों की प्रदर्शनी भी मेला स्थल पर लगवायें। संयुक्त निदेशक गन्ना शोध संस्थान, मुजफ्फरनगर का दायित्व होगा कि प्रत्येक किसान मेले में गन्ना शोध संस्थान के वैज्ञानिकों की उपस्थिति सुनिश्चित करायेंगे जो तकनीकी सत्र में मेले में उपस्थित जन साधारण/कृषकों को गन्ना की वैज्ञानिक खेती की सामयिक जानकारी उपलब्ध करायेंगे तथा कृषकों की तकनीकी समस्याओं का निदान भी करेंगे।

मुख्य विकास अधिकारी ने अग्रणी जिला प्रबन्धक को निर्देश दिये कि फसली ऋण एंव किसान के्रडिट कार्ड से सम्बन्धित कैम्प लगवाना सुनिश्चित करे, किसान के्रडिट कार्ड(के0सी0सी0) की स्वीकृति पत्र का वितरण सम्बन्धित विकास खण्ड की बैठक की शाखाओं के साथ समन्वय कर सुनिश्चित कराया जाये जिसमें बैंक शाखायें निर्धारित तिथि पर स्वीकृति पत्र वितरित कर सके। कृषि के साथ के0सी0सी0 कार्ड निर्गत किये जाये। इन कार्यक्रमों में सिचांई विभाग, नलकूप विभाग तथा विद्युत तथा विद्युत विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहेंगे तथा इनका अलग से स्टाॅल भी लगाया जायेगा। कोई भी कृषक नलकूप खराब होने, नहर की सिंचाई व्यवस्था खराब होने या ट्राॅसफार्मर के खराब होने की शिकायत लाते है तो उनका निस्तारण उसी दिन किया जायेगा। प्रदेश में महिलाओं को सुरक्षा करने तथा उन्हें आत्मनिर्भर बनाने हेतु मिशन शक्ति का संचालन किया जा रहा है। अतः यह आवश्यक है कि इन कार्यक्रमों मे महिला किसान की अधिक से अधिक भूमिका हो। इस उदेश्य से जागरूकता महिला कृषकों तथा कृषि उत्पादन पर आधारित स्वंय सहायता समूहों की सहभागिता भी सुनिश्चित करायी जायें।

उन्होने निर्देश दिये कि इन मेलों/प्रदर्शनी/गोष्ठियों मे कोविड-19 के परिप्रेक्ष्य में केन्द्र सरकार/राज्य सरकार द्वारा दिये गये सुरक्षात्मक निर्देशो का कडाई से अनुपालन होगा। विशेष रूप से यह सुनिश्चित किया जायेगा किः-

1.मेला परिसर में आने वाले सभी व्यक्ति मास्क पहनंेगे और निरन्तर मास्क पहने रहेंगे।

2.विभिन्न स्थानो/प्रदर्शनी के सार्वनिक स्थलों/मेला के स्थलो पर साबुन से हाथ धोने/सेनिटाईजर की पर्याप्त व्यवस्था होगी।

3.मेंले का लेआउट बडे से खुले स्थल पर किया जायेगा, जिससे किसी स्थान पर भीड न हो सके। प्रदर्शनी स्थल के स्टाॅल को भी दूर-दूर स्थापित किया जायेगा। जिससे सोशल डिस्टेशिंग का अनुपालन हो सके।

4.कृषक गोष्ठी के आयोजन में बैठने की व्यवस्था को भी सोशल डिस्टे्रशिंग का अनुपालन करते हुए की जायेगी तथा कार्यक्रम स्थल पर क्षमता के अनुसार ही प्रतिभागी आमंत्रित किये जायेगे।

5.पूरे कार्यक्रम में कोविड से सम्बन्धित सुरक्षात्मक व्यवस्था का प्रचार-प्रसार किया जाता रहेगा।

6.प्रवेश द्वार पर पल्स आॅक्सीमीटर, इंफा्ररेट थर्मामीटर उपलब्ध रहेगा जो आने वाले महानुभावो का परीक्षण करेगे, और कोविड के किसी भी लक्ष्य वाले व्यक्ति को अन्दर नही आने देगे और उन्हे उपचार हेतु चिकित्सालय भेजेंगे।

उन्होने निर्देश दिये कि कार्यक्रम में विभिन्न योजनाओ के अन्तर्गत लाभान्वित लाभार्थियों को देय सुविधाओ को प्रमाण पत्र वितरित किये जाये। 

बैठक में उप निदेशक कृषि, सहित सम्बन्धित विभागो के अधिकारीगण उपस्थित थे।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा