सोमवार, 12 फ़रवरी 2024

बैरिकेडिंग तोड़ दिल्ली की ओर किसानों का कूच

 



नई दिल्ली। तमाम बैरिकेड्स को तोड़ किसान दिल्ली की ओर बढ़ रहे हैं। दिल्ली प्रदर्शन के लिए किसान रास्ते में लगाए गए बेरीकेड्स को तोड़ते हुए लगातार आगे बढ़ रहे हैं। हालांकि मौके पर मौजूद पुलिस द्वारा किसानों को दिल्ली जाने से रोकने को कोशिश भी की जा रही है। मगर किसानों के उत्साह के आगे पुलिस के सभी इंतजाम धरे रह गए हैं।संगठनों के दिल्ली कूच का ऐलान किए जाने के बाद हरियाणा के 15 जिलों में धारा 144 लागू कर दी गई। इसके अलावा अंबाला, कुरुक्षेत्र, कैथल, जींद, हिसार, फतेहाबाद और सिरसा जिलों में रविवार की सुबह छह बजे से इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं। इंटरनेट सेवाएं 13 फरवरी की रात 12 बजे तक बंद रहेंगी। इसके बाद स्थिति का रिव्यू करके अगले आदेश जारी किए जाएंगे। केंद्र ने हरियाणा के लिए पहले से मंजूर अर्द्धसैनिक बलों की 50 कंपनियों के अलावा रविवार को 14 और कंपनियां हरियाणा भेज दी हैं।  किसान सड़क मार्ग को छोड़कर कच्चे रास्तों से निकलकर अपने मिशन को कामयाब बनाने के लिए पुलिस की नाकेबंदी को तार तार करते हुए आगे बढ़ रहे हैं। संयुक्त किसान मोर्चा एवं अन्य किसान संगठनों की ओर से किए गए दिल्ली कूच के आह्वान को विफल करने के लिए वैसे तो हरियाणा और पंजाब के शंभू एवं खनोरी समेत सभी बॉर्डर सील कर दिए गए हैं। वहीं सिंघु एवं टिकरी बॉर्डर पर भी सीमेंट के बेरीकेड्स लगाकर किसानों का रास्ता रोकने की हर संभव कोशिश की गई है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Featured Post

*'जो रह गए, उन्हें भविष्य में मिलेगा सभी योजनाओं का लाभ':मीनाक्षी स्वरूप*

  मुज़फ्फरनगर। वार्ड 41 आदर्श कॉलोनी में आयोजित विकसित भारत संकल्प यात्रा में नगर पालिका अध्यक्षा मीनाक्षी स्वरूप ने बताया कि गांव के गरीब से...