Sunday, October 10, 2021

आशीष मिश्रा गिरफ्तार, पूछताछ में नहीं दे सके कुछ जवाब


लखनऊ. लखीमपुर हिंसा मामले में आशीष मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया गया है. डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल ने कहा कि लंबी पूछताछ के बाद हमने पाया कि आशीष मिश्रा सहयोग नहीं कर रहे हैं. वह विवेचना में कई बातें बताने से बचते रहे . इसलिए हम उन्हें गिरफ़्तार कर रहे हैं, उन्हें कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा. इससे पहले आशीष से आज लंबी पूछताछ की गई थी. हिंसा मामले में आरोपी आशीष क्राइम ब्रांच के सामने पेश हुआ था.

आशीष मिश्रा उर्फ मोनू को हत्या, दुर्घटना में मौत,आपराधिक साजिश,लापरवाही से वाहन चलाने की धाराओं में गिरफ्तार किया है. डीआईजी ने बयान जारी कर कहा कि वह जांच में सहयोग नहीं कर रहे थे. 12 घंटे की पूछताछ के बाद मंत्री अजय टेनी के बेटे की गिरफ्तारी हुई है. आज हुई पूछताछ में SIT आशीष मिश्रा के जवाबों से संतुष्ट नहीं हुई. जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

क्राइम ब्रांच की पूछताछ के लिए वह अपने दर्जनों समर्थकों के साथ हलफनामा लेकर पहुंचा था. जिसमें कहा गया था कि घटना के समय वह एक टीवी कार्यक्रम में था. वह उस समय घटना वाली जगह पर नहीं था. 3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के बाद पूरा विपक्ष सरकार पर लगातार तीखे हमले कर रहा है. इसके बाद आज आशीष पुलिस के सामने पेश हुआ है.आशीष के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया गया है. एफआईआर के अनुसार आशीष उस कार में बैठा था, जिसने किसानों को कुचला था. इसी के साथ आशीष के ऊपर गोलियां चलाने का भी आरोप है. जानकारी के अनुसार बहराइच जिले के जगजीत सिंह की शिकायत पर एफआईआऱ दर्ज की गई है.

एफआईआऱ में कहा गया है कि हिंसा प्री प्लांड थी. इसके लिए मंत्री और उनके बेटे ने साजिश रची. आरोप है कि केंद्रीय गृह राज्यमंत्री की ओर से भड़काऊ बयानबाजी की गई. इससे हिंसा भड़की और 8 लोगों की जान गई. एफआईआर में ये भी लिखा गया है कि उस दिन किसान महाराज अग्रसेन इंटर कॉलेज के मैदान में इकट्ठे हुए थे और बनबीर जा रहे डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के खिलाफ शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे थे.

No comments: