Wednesday, September 29, 2021

फैशन स्पलैश में कोरोना को भगाने की थीम पर जमे परिधानों के रंग





मुजफ्फरनगर । श्रीराम ग्रुप ऑफ कॉलेजेज में ललित कला विभाग द्वारा आयोजित दो दिवसीय फैशन स्पलैश 2021 के दूसरे एवं अंतिम दिन मॉडल्स एवं कॉलेज के विद्यार्थियों ने आज के कार्यक्रम की थीम “कोरोना को भगाना है“ पर कोरोना काल के दौरान कोरोना वॉरियर्स द्वारा अपने-अपने क्षेत्रों में निभाई गई अतुलनिय भूमिका को समर्पित कैट वॉक की गई जिसमें अलग-अलग क्षेत्र के कोरोना वारियर्स के परिधानों को ललित कला विभाग के विद्यार्थियों द्वारा डिजाईन एवं निर्मित परिधानों को धारण कर रैंप पर कैट वॉक करते हुए कोरोना काल में जहॉं कोरोना वॉरियर्स की भूमिका एवं योगदान को प्रस्तुत किया वहीं कोरोना से बचाच संबंधित सरकार एवं प्रशासन की नीति निर्देशों का पालन करने के लिये आम लोगो को प्रेरित भी किया। 

 आज के कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक करना रहा। डिजाइनर और मॉडल्स ने अपने परिधानों के माध्यम से कोरोना से डरना नहीं बल्कि भगाने का संदेश दिया।

कार्यक्रम के दूसरे दिन का शुभारंभ अतिथियों कंचन प्रभा शुक्ला प्राचार्या जैन कन्या इंटर कॉलेज, कुसुमलता प्राचार्या आर्य कन्या इंटर कॉलेज, बीना शर्मा समाजसेवी, अनु बाटला, प्रियंका बाटला, रूकैया जैदी, अंशु पुरी, रीना अग्रवाल, सोनिया लुथला, चारू गुप्ता, लावण्या अरोरा, दीपा सैनी, और श्रीराम ग्रुप ऑफ कॉलेजेज़ के चेयरमैन डा0 एस0सी0 कुलश्रेष्ठ, द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर किया गया। 

भारतीय संस्कृति का पालन करते हुए फैशन स्पलैश 2021 की शुरूआत गणेश वंदना कर की गई। आज आयोजित हुए दो दिवसीय फैशन स्पलैश में मुख्य आकर्षण का केंद्र कार्यक्रम का थीम आधारित राउंड रहा जिसमें मॉडल्स जब कोरोना वॉरियर्स की भूमिका में रैंप पर पहुंचे तो पूरा रैंप तालियों एवं दर्शकों की वाहवाही से गूंज उठा।

कार्यक्रम का अगला राउंड किड्स का रहा। जिसमें नन्हे-मुन्हे बच्चों ने डिजाइनर ड्रेस पहनकर रैंप पर सुपर कैटवॉक कर सभागार में मौजूद दर्शकों के मन को मोह लिया।

इसके पश्चात् अगला राउंड गाऊन (सिंगल) का रहा। जिसमें फिमेल मॉडल्स ने रैंप वॉक करते हुए अपने आत्मविश्वास का परिचय दिया।

इसी कड़ी में अगला राउंड फॉर्मल (मेल) वियर का रहा फॉर्मल परिधानों को पहनकर जब मॉडल्स रैंप पर कैट वॉक करने उतरे तो दर्शकों ने उनकी प्रतिभा और आत्मविश्वास को तालियों से सराहा।

तत्पश्चात् अगला राउंड साड़ी का रहा। जिसमें डिजाइनर्स ने अपनी रचनात्मकता का प्रदर्शन करते हुए देश के विभिन्न राज्यों की संस्कृति को मॉडल्स के माध्यम से रैंप पर एक साथ उतार दिया।

इसी श्रृंखला में अगला राउंड पारंपरिक थीम पर आधारित परिधानों का रहा। इस राउंड में मेल मॉडल्स ने पारंपरिक परिधानों के माध्यम से देश की परंपरा को अपने में समेटकर रैंप पर कैटवॉक करते हुए दर्शकों के मन को मोह लिया।

अगला राउंड पश्चिमी सभ्यता पर आधारित परिधानों का रहा। इस राउंड में अनेक कलात्मक शैलियों एवं पश्चिमी सभ्यता का सकारात्मक रूप और अद्भूत समन्वय देखने को मिला। 

इसी क्रम में अगला राउंड “बीच वियर“ का रहा जिसमें डिजाइनर्स द्वारा तैयार परिधानों के माध्यम से उनकी रचनात्मकता और कलात्मकता देखने को मिली।

इसके पश्चात् लहंगे राउंड में लहंगों के डिजाईन और फिमेल मॉडल्स के आत्मविश्वास ने पूरे सभागार को अपनी ओर आकर्षित कर लिया।

अगले गाऊन कपल राउंड में फिमेल मॉडल्स ने अन्य मॉडल्स के साथ अपना तालमेल बिठाते हुए अपने हुनर को प्रदर्शित किया।

यह राउंड दो भागों में विभाजित रहा। डिजाइनर्स द्वारा तैयार लहंगों को पहनकर एक बार फीमेल मॉडल्स ने रैंप पर कैट वॉक की और एक बार मेल मॉडल्स के साथ अपना तालमेल बिठाते हुए अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया।

कार्यक्रम के अंतिम दिन प्रदर्शित किए गए अलग-अलग थीम्स पर आधारित परिधानों के आधार पर मॉडल्स को अवार्ड दिया गया। साडी लाउंड में श्रुति ने प्रथम सिमरन ने द्वितीय और कनिष्का ने तृतीय पुरूस्कार प्राप्त किया। ग्राऊन युगल ग्रुप-ए में राजन और प्रियांशी ने प्रथम मारूफ और प्रियांशु ने द्वितीय शिवम और दीपिका ने तृतीय पुरूस्कार प्राप्त किया। वही ग्रुप-बी में शिवानी और शाहआलम ने प्रथम, शहबाना और विशाल ने द्वितीय तथा हसन और अरिसा ने तृतीय पुरूस्कार प्राप्त किया तथा लहंगा एकल ग्रुप में बुशरा ने प्रथम, कोमल ने द्वितीय तथा सुमैया ने तृतीय पुरूस्कार प्राप्त किया। वेर्स्टन ग्रुप में सलोनी ने प्रथम, विदुशी ने द्वितीय तथा सीमा ने तृतीय पुरूस्कार प्राप्त किया। वही बीच वेयर में फिराज ने प्रथम शाकिब और मोहशीन ने संयुक्त रूप से द्वितीय तथा अमन अब्बासी ने तृतीय पुरूस्कार प्राप्त किया। फॉर्मल वियर मेल की कैटेगरी अब्बुजार ने प्रथम तुषार ने द्वितीय तथा मौ0 शाकिब ने तृतीय पुरूस्कार प्राप्त किया। 

इस अवसर पर श्रीराम कॉलेज कॉर्डिनेटर डा0 प्रेरणा मित्तल ने अपने संबोधन में बोलते हुए कहा कि आज श्रीराम ग्रुप ऑफ कॉलेजेज़ द्वारा प्रशासन द्वारा जारी की गई कोरोना से संबंधित गाइडलान्स एवं सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए दो दिवसीय फैशन स्पलैश 2021 का सफलतापूर्वक समापन किया गया। उन्होंने आगे कहा कि श्रीराम ग्रुप ऑफ कॉलेजेज़ हमेशा विद्यार्थियों की रचनात्मकता और कौशल को बढ़ावा देने के लिए ऐसे मंच उपलब्ध कराता रहता है। जिससे न सिर्फ विद्यार्थियों का आत्मविश्वास बढ़े अपितु उसकी प्रतिभा को एक नई पहचान मिले।

कार्यक्रम में श्रीराम गर्ल्स कॉलेज के निदेशक डा0 मनोज धीमान ने  सभी प्रतिभागी डिजाइनर्स एवं मॉडल्स को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि हार-जीत से डरकर कभी रूकना नहीं चाहिए। जब तक गिरेंगे नहीं तब तक उठकर सही तरह से चलना कैसे सीखेंगे। हार से डरकर रूकने की बजाए अपनी कमियों को दूर कर फिर से प्रयास करेंगे तो सफलता निश्चित ही मिलेगी। उन्होंने आगे कहा कि हमें किसी व्यक्ति विशेष के दबाव में न आकर अपने मन की बात सुनकर ही अपने लक्ष्य का चुनाव करना चाहिए। कार्यक्रम का सफल संचालन मौहम्मद शहज़ाद गौर, फरहा मलिक और खिज़ार खान द्वारा किया गया।

कार्यक्रम को सफल बनाने में श्रीराम कॉलेज के निदेशक डा0 आदित्य गौतम, श्रीराम ग्रुप ऑफ कॉलेजेज़ के निदेशक डा0 आलोक गुप्ता, श्रीराम कॉलेज के डीन डा0 विनीत शर्मा, ललित कला विभाग की विभागाध्यक्ष डा0 रूपल मलिक, रीना त्यागी, बिन्नू पूण्डीर, रजनीकांत, अन्नू नायक, हिमांशी, हिमांशु गौतम और मयंक सैनी आदि का महत्वपूर्ण योगदान रहा।



पवन अग्रवाल

मुजफ्फरनगर

No comments: