Tuesday, September 14, 2021

नवरात्र और रामलीला के दौरान खून खराबा करने की आतंकी साजिश विफल


नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने रामलीला और नवरात्र के दौरान बडे पैमाने पर हिंसा की साजिश विफल करते हुए उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र और दिल्ली में अलग-अलग ठिकानों पर छापेमारी कर कुल 6 आतंकियों को गिरफ्तार किया है. इन आतंकियों के आईएसआई और अंडरवर्ल्ड की डी कंपनी के मॉड्यूल से जुड़े होने का शक जताया जा रहा है.

सूत्रों के अनुसार पाकिस्तान प्रायोजित टेरर मॉड्यूल के दो आतंकियों की ट्रेनिंग पड़ोसी मुल्क में ही हुई थी. इन आतंकियों के पास से भारी मात्रा में गोला-बारूद और हथियार बरामद किए गए हैं. पाकिस्तान ट्रेंड आंतिकयों के नाम ओसामा और जिशान बताए जा रहे हैं. शुरुआती जानकारी में निकलकर सामने आया है कि उत्तर प्रदेश के विधान सभा चुनाव से पहले वहां किसी बड़ी आतंकी वारदात को अंजाम देने की प्लानिंग थी.

दिल्ली पुलिस का कहना है कि पकड़े गए आतंकी पूरे देश में आतंकी वारदातों को अंजाम देने की फिराक में थे. ये आतंकी विस्फोट करने की योजना बना रहे थे साथ ही टारगेट किलिंग के जरिए नामी लोगों को भी निशाना बना सकते थे. पुलिस ने बताया कि आतंकियों के पास से आईईडी और आरडीएक्स भी बरामद किया गया है और इनमें से दो आतंकियों का कनेक्शन अंडरवर्ल्ड से बताया जा रहा है.

दिल्ली पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि मंगलवार सुबह एक साथ कई राज्यों में छापेमारी की गई थी. इसके बाद एक संदिग्ध समीर को महाराष्ट्र से जबकि दो आतंकियों को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने बताया कि ये मस्कट के रास्ते पाकिस्तान में ट्रेनिंग लेने गए थे और इसके बाद भारत में स्लीपर सेल की तरह काम कर रहे थे. इनको डी कंपनी की लगातार मदद दी जा रही थी और लॉजस्टिक सपोर्ट मुहैया कराया जा रहा था.

पुलिस ने बताया कि त्योहारों के सीजन में ये आतंकी देश के अलग-अलग हिस्सों में आईईडी ब्लास्ट करने की प्लानिंग में थे. पुलिस ने बताया कि दहशरा और नवरात्र के दौरान ये देश में धमाके कर सकते थे साथ ही उन्होंने पाकिस्तान में ही बम बनाने की ट्रेनिंग ली थी. पुलिस के मुताबिक आतंकी दो गुट बनाकर ऑपरेट कर रहे थे जिसमें एक का काम फंडिंग जुटाना और दूसरे गुट का काम हथियार मुहैया कराना था.

इन गिरफ्तारियों पर उत्तर प्रदेश के एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा कि लखनऊ, प्रयागराज समेत चार जिलों में छापेमारी के बाद आतंकियों को गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने बताया कि प्रयागराज में आईईडी को डिफ्यूज किया गया था और अन्य आरोपियों की तलाश के लिए भी छापेमारी की जा रही है. साथ ही मामले की जांच हो रही है.

No comments: