Sunday, August 15, 2021

फर्जी आईएएस बनकर करोड़ों की ठगी में देवबंद के युवक समेत दो गिरफ्तार

 


नई दिल्ली। फर्जी आईएएस वरिष्ठ अधिकारी बताकर बेरोजगारों को रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर करोड़ों की ठगी करने वाले जालसाज गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है। इनमें एक देवबंद का निवासी है। 

यह जानकारी देते हुए दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा के अतिरिक्त उपायुक्त आर.के. सिंह ने रविवार को बताया कि ब्रिज किशोर (34) और सचिन कुमार (36) को पीड़ितों की शिकायत के आधार पर गिरफ्तार किया गया है। बिहार में पटना के कंकड़बाग का रहने वाला ब्रिज किशोर ने जयपुर से बीटेक की पढ़ाई पूरी करने के बाद एक निजी कंपनी में नौकरी की थी। रातों-रात अमीर बनने के लिए वह विभिन्न सरकारी विभागों में ट्रांसफर और पोस्टिंग के नाम पर लोगों से ठगी करने लगा। आरोप है कि उसने खुद को बतौर वरिष्ठ आईएएस अधिकारी बताकर 40 बेरोजगारों से दो करोड़ 44 लाख रुपये की ठगी की थी। आरोपी भोले-भाले बेरोजगार युवकों को रेलवे में नौकरी का झांसा देकर उनसे रुपये लेकर बकायदा फर्जी नियुक्ति और ट्रेनिंग लैटर देता था। युवकों का विश्वास जीतने के लिए वह उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में प्रशिक्षण दिलाता था। उसके गिरोह में शामिल उत्तर प्रदेश के देवबंद तहसील के सहारनपुर का निवासी सचिन बेरोजगारों को ट्रेनिंग देने का नाटक करता था। बीकॉम की पढ़ाई के बाद उसने वहां 'एनआरटी इंडिया' नाम से कोचिंग चलाता था और वहीं फर्जी तरीके से ट्रेनिंग देता था।

No comments:

Featured Post

सपा यूथ ब्रिगेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने दिया बूथ जीतने का मंत्र

मुजफ्फरनगर । सपा कार्यालय पर मुलायम सिंह यादव यूथ ब्रिगेड राष्ट्रीय अध्यक्ष सिद्धार्थ सिंह ने कार्यकर्ताओं को बूथ जीतने का मंत्र दिया।  उनके...