भाकियू के समर्थन में गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे गैर भाजपाई वाल्मीकि


गाजीपुर बॉर्डर/मुजफ्फरनगर। गाजीपुर बॉर्डर पर भारतीय किसान यूनियन के समर्थन में आयोजित वाल्मीकि पंचायत में एकजुट होकर भाकियू का साथ देने का वायदा करते हुए शपथ दिलाई गई।जिसमे वाल्मीकि क्रान्ति दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री दीपक गंभीर ने कहा कि गाजीपुर बॉर्डर पर विगत दिनों जो वाल्मीकि समाज को लेकर जो हंगामा हुआ, वो अमित वाल्मीकि नही अमित भाजपाई था।

किसान एकता मोर्चा के बैनर तले गाजीपुर बॉर्डर पर आयोजित वाल्मीकि पंचायत में वक्ताओं ने कहा कि गाजीपुर बॉर्डर पर भाजपा नेता अमित वाल्मीकि को भेजना भाजपा की एक सोची समझी साजिश थी ताकि वाल्मीकि समाज और धरणारत किसानों के बीच एक खाई पैदा की जा सके। और उनके बीच वेमनस्य हो जाए।

वाल्मीकि क्रान्ति दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री दीपक गंभीर ने हजारों लोगों की भीड़ को सम्बोधित करते हुए कहा कि जब हाथरस में समाज की बेटी के साथ बलात्कार के बाद हत्या करके रातोरात उसकी लाश को जला दिया था उस वक्त ये वाल्मीकि समाज के नेता कहां थे और क्या कर रहे थे? मुजफ्फरनगर के गौरव और वर्ल्ड फेमस भाकियू नेता चौधरी राकेश टिकैत ने हमेशा से ही वाल्मीकि समाज का सम्मान किया है।

पंचायत में मनोज सौदाई एडवोकेट, श्री पाल पाहीवाल, नरेश नंदन वाल्मीकि, सोनू सरवट, सतपाल गहरा, अश्वनी टांक, संजय रामपुरी, लवी गोयल, राजू प्रधान, रजनीश गम्भीर, मिक्की मचल, विक्की बेनीवाल, सरलु सिंह, पी के सुधा, सुधीर कुमार पारचा, दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष कैलाश चन्द बेनीवाल, राकेश टांक, सागर सौदाई, मनीषआदि मौजूद रहे।

मंच पर मौजूद वाल्मीकि क्रान्ति दल के पदाधिकारियों को चौधरी राकेश टिकैत ने साफा पहनाकर सम्मानित भी किया।

Comments

Popular posts from this blog

राज्य कर्मचारियों को भी मिलेगा बढा महंगाई भत्ता

डीएम सेल्वा कुमारी जे का तबादला, मनीष बंसल होंगे नये डीएम!

रालोद और भाकियू के नाम पर हुडदंग करने वालों पर लाठीचार्ज, पांच गिरफ्तार