मुजफ्फरनगर में प्रेमिका से 8 माह पूर्व पत्नी बनी युवती ने खाया जहर, मौत

 


मुजफ्फरनगर l जिले के एक गाँव में एक युवक की प्रेम कहानी विवाह में बदली तो यह सिलसिला आठ माह तक ही चल पाया। घर में तकरार हुई तो प्रेमिका से विवाहिता बनी युवती ने जहर खाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। जिसके बाद विवाहिता के परिजन उसकी ससुराल पहुंच गये। जिन्होंने दहेज के लिए हत्या का आरोप लगाया। जिसके बाद पुरकाजी थाने में हत्यारोपी के रूप में मृतका के पति, ससुर, देवर, जेठ व बिचौलिया के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज करा दिया गया हैं।

मामला पुरकाजी थाना क्षेत्र के ग्राम खेडकी का हैं। जहां बीती रात जोनी की पत्नी सोनम को तेज जहर के असर के चलते मुजफ्फरनगर के एक निजी नर्सिग होम में उपचार के लिए भर्ती कराया गया। जहां उपचार के दौरान सोनम ने दम तोड दिया। इसकी सूचना सोनम के मायके उत्तराखण्ड के गांव महेसरा पहुंची। जहां उसके परिजन अस्पताल पहुंच गये। मृतका के भाई दीपक ने बताया कि उसकी बहन सोनम की हत्या की गई है। सोनम की मौत के मामले में दीपक निवासी महेसरा थाना खानपुर उत्तरखंड ने अपने बहनोई जोनी, ससुर तेजपाल, युवती के जेठ व देवर अरूण व गौरव के साथ बिचौलिया रहे मेरठ के प्रशांत के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। बताया जाता है कि सोनम की शादी आठ माह पहले हुई थी। जोनी की रिश्तेदारी ग्राम महेसरा में थी जहां वह अक्सर जाता रहता था। सोनम व जोनी की मुलाकात हुई। फोन नम्बर के लेनदेन के बाद मामला शादी तक पहुंच गया। हालांकि सोनम के परिजनो ने इस शादी से इंकार कर दिया था, लेकिन प्रेम प्रसंग इतना बढ़ चुका था कि परिवार को झुकना पडा और दोनो का विवाह कर दिया गया। शादी के बाद प्रेम की पींगे धीरे-धीरे धीमी पड़ती चली गई और बीती रात मामूली विवाद ने इतना तूल पकडा कि विवाहिता ने जहर खाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। इध्र मृतका के भाई दीपक ने पुलिस को बताया कि उसकी बहन की हत्या की गई है। उसकी बहन के ससुरालजन अतिरिक्त दहेज के लिए लगातार दबाव बना रहे थे। जब मांग पूरी नहीं हुई तो उसकी बहन की हत्या कर दी गई। वहीं इस पूरे मामले में मृतका के पति जोनी ने भी सफाई दी है। जोनी का कहना था कि गुस्से में उसकी पत्नी सोनम ने खुद जहर खाया हैं। बीती रात दोनो के बीच कहासुनी हुई थी। जिसमें सोनम ने पहले से ही जहर लाकर रख रखा था। विवाद बढ़ा तो सोनम ने कमरे में जाकर तेज जहर का सेवन कर लिया। पुलिस ने दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज करते हुए हत्यारोपियों की तलाश शुरू कर दी है। वहीं शव को भी पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

जनपद भर में जानलेवा सल्फास की बिक्री खुलेआम हो रही है। कीटनाशक एवं बीज के विक्रेताओं की दुकान पर यह जानलेवा दवाईयां आसानी से उपलब्ध हो रही है। परिवार में मामूली सी कहा सुनी होते ही महिलायें कीटनाशक दवाईयां लाकर घरों में रख लेती है। कुछ ऐसा ही मामला सोनम के साथ भी हुआ। पति से हुई कहासुनी के बाद सोनम पुरकाजी के एक कीटनाशक विक्रेता से सल्फास खरीदकर ले गई। यह दवाई गेंहू में रखने के काम आती है। इसकी खुली बिक्री पर प्रतिबन्ध है। केवल किसान को ही यह दवा बेची जा सकती है। लेकिन यहां महिलाओं को सुसाईड करने के लिए आसानी से यह दवा उपलब्ध कराई जा रही है।

Comments

Popular posts from this blog

राज्य कर्मचारियों को भी मिलेगा बढा महंगाई भत्ता

डीएम सेल्वा कुमारी जे का तबादला, मनीष बंसल होंगे नये डीएम!

रालोद और भाकियू के नाम पर हुडदंग करने वालों पर लाठीचार्ज, पांच गिरफ्तार