Friday, May 28, 2021

होम्योपैथिक डॉक्टर भी देख सकेगें कोरोना के मरीज, मंत्रालय की गाइडलाइन जारी

 


वाराणसी । कोविड.19 के मरीजों के अस्पतालों में भीड़ रोकने के लिए आयुष मंत्रालय ने होम्योपैथिक डॉक्टरों को भी ऐसे मरीजों को देखने की अनुमति दे दी है। मंत्रालय की गाइडलाइन के मुताबिक इन चिकित्सकों को लक्षणविहीन और शुरुआती लक्षण वाले मरीजों को देखना है। आगे की स्टेज वाले मरीजों को उच्चस्तरीय अस्पतालों में रेफर कर देना होगा।

मंत्रालय के दिशा.निर्देशों में कहा गया है कि जो मरीज होम आइसोलेशन में रहकर इलाज कर रहे हैंए उन्हें होम्योपैथिक चिकित्सक देख सकते हैं। उन्हें मरीजों को कोरोना का पूरा प्रोटोकॉल फॉलो कराना होगा। जैसे दो गज़ की दूरी लागू करानाए मास्क पहनवानाए हाथ लगातार धुलवाने की सलाह देना। गाइडलाइन में कहा गया है कि लक्षणविहीन कोरोना पॉजिटिव मरीजों को होम्योपैथिक डॉक्टरों को आरसेनिकम एलबम 30 सी की चार गोली दिन में दो बार सात दिन तक देना होगा। इसी प्रकार हल्के लक्षण वाले मरीजों को एकोनिटम नेपोलसए आरसेनिकम एलबमए बेलाडोनाए बरयोनिया एलबाए इयूपाटोरियम परफोलियटमए फेरम फास्फोरिकमए गलसेमियमए फास्फोरसए रस टॉक्सिकोडेंड्रम दवाएं चलेंगी। दवा की खुराक डॉक्टर मरीज की हालत को देखकर तय करेगा। इसके अलावा किसी कोरोना संक्रमित मरीज के संपर्क में आने वाले लक्षणविहीन व्यक्ति को आरसेनिकम एलबम 30 सी की चार गोली दिन में एक बार सात दिन तक देना होगा। गाइडलाइन के मुताबिकए होम्योपैथिक डॉक्टर को मरीज के लक्षणों पर लगातार नज़र रखनी होगी। मरीज़ का बुखार और ऑक्सीजन स्तर को दिन में दो बार जांचना होगा। उसे घर से निकलने और घर में भी सामाजिक दूरी बनाने की हिदायत देनी होगी।

 

No comments:

Featured Post

अनिता तायल की याद में आंखों का जांच शिविर संपन्न

मुजफ्फरनगर । पालिका अध्यक्ष श्रीमती अंजू अग्रवाल द्वारा श्री सूरजमल सुशीला जैन धर्मार्थ ट्रस्ट एवं वरदान धर्मार्थ नेत्र सेवा संस्थान मुजफ्फर...