पंचायत चुनाव में विद्यालयों की गाड़ियों के अधिग्रहण को लेकर दिया ज्ञापन

 मुजफ्फरनगर। आज एफिलिएटिड स्कूल्स एंड सोशल वेलफेयर एसोसिएषन, मुजफ्फरनगर के पदाधिकारी व कार्यकर्ता डीएम कार्यालय पर पहुंचे और जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे को ज्ञापन देकर अपनी समस्याए रखी। उन्होंने बताया कि समस्त विद्यालयों में मार्च 2020 से लगातार अवकाश चल रहा था। सरकार प्रशासन के आदेश पर फरवरी 2021 से विद्यालय दोबारा खुले, लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में विद्यालय आने वाले छात्रों का प्रतिशत न्यूनतम ही रहा है। जिसके चलते विद्यालय में शुल्क जमा होने का प्रतिशत भी बेहद ही कम रहा है। प्रशासन सरकार के आदेशानुसार गाड़ियों का शुल्क तो बिल्कुल लिया ही नहीं गया है। अतः गाड़ियों के ड्राइवर आदि की छुट्टी कर दी गई थी। इस वर्ष भी छुट्टी की घोषणा के चलते गाड़ियों के सर्विस व रखरखाव का कार्य पूर्ण नहीं हो पाया था। कक्षा 9 से 12 के छात्रों को लाने और ले जाने हेतु कुछ गाड़ियां चालू हालत में उपलब्ध है। जो बस पिछले वर्ष अब तक बिल्कुल भी प्रयोग में नहीं लाई गई उन सभी की बैटरी बिल्कुल खत्म है तथा अन्य सर्विस के कार्य भी पेंडिंग है तथा विद्यालयों की आर्थिक स्थिति भी दयनीय है। विद्यालय इस स्थिति में बिल्कुल भी नहीं है कि विद्यालय गाड़ियों की सर्विस मरम्मत एकदम से करा सकें। हम सभी विद्यालय हमेषा से ही सरकार प्रषासन के साथ प्रत्येक दषा में सहयोग करते आए हैं और आगे भी करते रहेंगे। लेकिन इस वर्ष विद्यालय हर प्रकार से दयनीय स्थिति में है। 

उन्होंने डीएम से अपील की है कि विद्यालयों पर दया दृष्टि रखते हुए विद्यालय से पूछ कर विद्यालय में जितने भी वाहन चालू हालत में है उनका अधिग्रहण कर लिया जाए तथा उन सभी बसों को भेजने में हम भी स्वेच्छा से सहमत हैं। लेकिन जो बसें बिल्कुल भी अच्छी हालत में नहीं है उन्हें भी ठीक करा कर ड्राइवर नियुक्त करके भेजने का दबाव न बनाया जाए। क्योंकि विद्यालय समितियां आर्थिक तंगी से जूझ रही है। इन सभी परिस्थितियों में उनकी स्थिति और ज्यादा खराब हो जाएगी। विद्यालय अलग-अलग सामाजिक परिवेश और आर्थिक हालात का सामना कर रहे हैं। कुछ विद्यालय इस अवस्था में है कि वे अपने वाहन ठीक करा कर चुनाव ड्यूटी में पूर्ण योगदान दे सकते हैं। लेकिन अधिकांष ग्रामीण क्षेत्र के विद्यालय इस हालत में नहीं है जो अपनी आधी तिहाई गाड़ियों को भी चालू हालत में करने में समर्थ हो।


विद्यालय प्रबन्धक और प्रधानाचार्य अपनी तरफ से पूरी कोषिष करने पर भी यदि चालक की व्यवस्था नहीं कर पाए तो निवेदन है कि प्रशासन अपने स्वयं के स्रोत से हमें ड्राईवर व परिचालक उपलब्ध कराने की कृपा करें। सभी विद्यालय भी चाहते हैं कि हम ज्यादा से ज्यादा बसेंध्मिनी वैन चुनाव हेतु उपलब्ध करा दें। जिसके लिए सभी प्रयासरत हैं। इस संबंध में सभी विद्यालय अपनी सहमति अगले 24 घंटे में आरटीओ को प्रेषित कर देंगे। ज्ञापन देने वालों में जिला अध्यक्ष चन्द्रपाल सिंह, जिला महासचिव प्रवेन्द्र दहिया, कोषाध्यक्ष कुलदीप सिवाच, सहसचिव संदीप मलिक, मण्डल अध्यक्ष महेशपाल सिह, प्रदेश महासचिव चन्द्रवीर सिंह, प्रदेश अध्यक्ष एससी त्यागी, जसवीर सिंह राणा, यशपाल सिंह, सुरेशचन्द पाठक, सुधीर वेदवान, सुघोष आर्य, अनिल शास्त्री, आशिक अली आदि स्कूल प्रिंसिपल मोजूद रहे।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा