Friday, March 5, 2021

उत्तराखंड में गैरसैंण के रूप में नई कमिश्नरी की घोषणा

 देहरादून l उत्तराखंड की ग्रीष्मकालीन राजधानी के गठन की वर्षगांठ पर सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गैरसैंण को एक और बड़ा तोहफा दे दिया। सीएम ने गुरूवार को गैरसैंण के रूप में नई कमिश्नरी के गठन की घोषणा की। प्रदेश की इस तीसरी कमिश्नरी में चमोली, रुद्रप्रयाग, अल्मोड़ा और बागेश्वर जिले शामिल होंगे। कमिश्नरी का मुख्यालय गैरसैंण में होगा। इसके साथ ही गैरसैंण के विकास के लिए प्रस्तावित मास्टर प्लॉन का टेंडर एक महीने के भीतर कर दिया जाएगा। सीएम की घोषणा का सदन ने मेज थपथपाकर स्वागत किया।



सीएम ने आज ठीक एक साल पहले वाले अंदाज में ही गैरसैंण पर सभी को चौंकाया। पिछले साल चार मार्च 2020 को भी सीएम ने बजट पेश करने बाद गैरसैंण को ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाने की घोषणा की थी।बजट भाषण पूरा करने के बाद सीएम ने कहा कि मैं अब तीन विशेष घोषणा करना चाहता हूं। जैसे ही उन्होंने गैरसैंण को कमिश्नरी बनाने की घोषणा की भाजपा विधायकों ने स्वागत करते हुए मेज थपपाते हुए पूरे सदन को गुंजा दिया।

गढ़वाल और कुमाऊं कमिश्नरी के दो-दो जिलों को हटाते हुए नई कमिश्नरी का गठन किया जाएगा। सीएम ने कहा कि गैरसैंण के विकास के लिए मास्टर प्लॉन बनाया जा रहा है। ठीक एक महीने के भीतर ही इसके टेंडर कर दिए जाएंगे। तीसरी घोषणा के रूप में सीएम ने कहा कि नई बनने वाली पंचायतों को बुनियादी ढांचे के विकास के लिए एक-एक करोड़ रुपये दिए जाएंकुमाऊं के बराबर होगी गैरसैंण कमिश्नरी



प्रशासनिक दायरे के लिहाज से गैरसैंण कमिश्नरी का आकार कुमाऊं कमिश्नरी के समान होगा। वर्तमान में कुमाऊं कमिनरी में छह जिले थे। अल्मोडृा और बागेश्वर के कटने से इनकी संख्या अब चार रह गई है। सात जिले वाली गढ़वाल कमिश्नरी से भी दो जिले हटाकर गैरसैंण कमिश्नरी में शामिल किए गए हैं। जिलों की संख्या के लिहाज से अब पांच जिलों के साथ गढ़वाल कमिश्नरी अब भी राज्य की सबसे बड़ृी कमिश्नरी होगी।गे।

No comments:

Featured Post

फोन सैक्स के आफर में फंस गये बडे-बडे नेता और अफसर

अहमदाबाद। सोशल मीडिया पर खूबसूरत चेहरे वाली प्रोफाइल से फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजकर लोगों को हनी ट्रैप में फंसाने और ब्लैकमेलिंग के धंधे में तमाम...