मुजफ्फरनगर की बेटी बनी पीसीएस तो मिली बधाईयाँ





मुजफ्फरनगर । चरथावल की बेटी के पीसीएस अधिकारी बनने पर परिवार और गाँव मे खुशी का माहौल है। 

जनपद के एक छोटे से गांव महाबलीपुर की किसान स्वर्गीय वेदपाल सिंह की बेटी रितु चौधरी यूपीपीएससी 2019 के बैच की डिप्टी कलेक्टर चुनी गई हैं। रितु चौधरी ने 2019 यूपीपीएससी के एग्जाम में परीक्षा पास कर 34 वी रैंक हासिल की और अपने गांव के साथ-साथ जनपद मुजफ्फरनगर का भी नाम रोशन किया। रितु चौधरी की प्रारंभिक शिक्षा गांव के ही माध्यमिक स्कूल से शुरू हुई और मुजफ्फरनगर के चरथावल ब्लॉक स्थित इंटर कॉलेज व महाराजा अग्रसेन स्नातक महाविद्यालय से खत्म हुई। वहाँ उन्होंने ग्रेजुएशन पास कर एमबीए में एडमिशन लिया और देहरादून में जॉब भी की रितु चौधरी इसी से संतुष्ट नहीं हो पाई और उन्होंने पीसीएस कि तैयारियां शुरू की। उन्होंने अपने दम पर और काबिलियत पर और परिवार वालों के आशीर्वाद से मेहनत करके यूपीपीएससी 2019 की सिविल सर्विस में 34 वी रेंक प्राप्त कर डिप्टी कलेक्टर के पद पर चयनित होकर गांव का नाम रोशन कर दिया। रितु चौधरी अपनी इतनी बड़ी सफलता का पूरा श्रेय अपने मां बाप भाइयों और भाभी सहित परिजनों को देती हैं और बताती हैं कि आज में जो यह मुकाम हासिल कर पाई हूं इन सबके आशीर्वाद और साथ से कर पाई हूं। गांव में  खुशी का माहौल है। ग्राम प्रधान भी अपने गांव की बेटी की तारीफ करते नहीं थकते और परिवार में उनकी हमउम्र भाभी मां बहन मौसी और भाई भी खुशी से फूले नहीं समा रहे हैं। वे बात करते हुए भावुक हो जाते हैं। जब से रितु के प्रशासनिक पद पर चयन होने की सूचना मुजफ्फरनगर प्रशासनिक अधिकारियों को मिली है तभी से उनके घर पर प्रशासनिक अधिकारियों और पुलिस अधिकारियों का शुभकामनाएं देने का ताता लगा हुआ है। इसी कड़ी में सिटी मजिस्ट्रेट अभिषेक कुमार सिंह व सीओ सिटी कुलदीप सिंह ने भी उनके घर पहुंच कर उन्हें फूलों का बुके देकर उनका स्वागत और उन्हें सम्मानित किया। रितु चौधरी के परिवार में इस वक्त उनकी मां शर्मिला दो भाई भगत सिंह व रविंद्र कुमार भाभी नीतू रानी वह एक बहन पारुल और उनके भतीजे और भतीजी वाणी वर्णित ऋषि हैं। घर पर गांव वालों के परिवारों का आना-जाना लगातार उन्हें सम्मानित करने के लिए लगा हुआ है। रितु चौधरी चाहती है कि जल्द ही उनकी तैनाती हो और वे देश की सेवा करें। रितु चौधरी ने बताया कि मैं चाहती हूं देश सेवा के साथ-साथ महिलाओं और युवतियां के लिए मिशन शक्ति के अंतर्गत सेवा और काम करती रहूं। युवतियों के लिए संदेश दिया कि युवतियां अपना टारगेट पूरा कर पढ़ाई करें और कुछ बनकर देश की सेवा करें ना कि केवल घर में ही रहें।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा