चौ नरेश टिकैत से मिले आप सांसद संजय सिंह


मुजफ्फरनगर । आप सांसद और यूपी प्रभारी संजय सिंह ने रविवार को भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत के पैर छूकर आशीर्वाद लिया। सांसद संजय सिंह ने टिकैत और मौजूद किसानों को किसान आंदोलन को लेकर 'आप' की ओर से सड़क से लेकर संसद तक लड़ी जा रही लड़ाई के बारे में बताया। आप नेता संजय सिंह ने भारतीय किसान यूनियन को विभिन्न दलों के नेताओं को पत्र लिखने को कहा है ताकि बिल वापसी को लेकर उन पर भी दबाव बनाया जा सके। आठ मार्च से संसद का सत्र फिर से शुरू होने जा रहा है।
आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने सिसौली में किसान भवन पहुंचकर भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत से उनके आवास पर भेंट की। उन्होंने कहा कि इस समय भी दिल्ली के बार्डरों पर किसानों का आंदोलन चल रहा है लेकिन सरकार धृतराष्ट्र की तरह की तरह आंखों पर पट्टी बांधे है। भविष्य में किसान आंदोलन को तेज करने के लिए ही वह भाकियू अध्यक्ष से बात करने के लिए आए हैं। उन्होंने चौधरी नरेश टिकैत से अनुरोध किया कि वह सभी राजनैतिक दलों को पत्र लिखकर किसान आंदोलन में सहयोग मांगे। यह आंदोलन सड़क से संसद तक होना चाहिए।

बिना किसी कार्यक्रम के अचानक अपने समर्थकों समेत भाकियू के मुख्यालय सिसौली में पहुंचे आम आदमी पार्टी के सांसद व उत्तर प्रदेश प्रभारी संजय सिंह ने कहा कि अभी भी किसानों का आंदोलन मजबूती के साथ चल रहा है। यूपी और कई राज्यों में किसानों की बड़ी भागेदारी के साथ महापंचायत हो रही हैं। पर केंद्र सरकार के ऊपर कोई असर नही पड़ रहा है। सरकार धृतराष्ट्र की तरह से आंखों पर पट्टी बांधकर बैठी है। उन्होंने कहा कि आंदोलन भाकियू के अध्यक्ष से मिलने के लिए आया था। आठ मार्च से फिर से संसद का सत्र शुरू होने जा रहा है। आगे की रणनीति क्या होनी चाहिए इस पर चर्चा हुई है। आप सांसद संजय सिंह ने कहा कि इस किसान आंदोलन में 200 लोगों की शाहदत हो चुकी है। सरकार किसानों को आतंकवादी और देशद्रोही कहा गया, खालिस्तानी कहा गया। देश के अन्नदाता का जितना अपमान हो सकता है उतना किया गया। भाजपा के नेता ने 200 किसानों की शाहदत पर खिल्ली उडाई वह भाजपा की मानसिकता तो दर्शाती है। इससे पहले किसान भवन में आप सांसद संजय सिंह ने चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत की प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किए। आप सांसद संजय सिंह ने चौधरी नरेश टिकैत से अनुरोध किया कि वह भाकियू के अध्यक्ष के तौर पर सभी राजनैतिक दलों को पत्र लिखकर किसान आंदोलन में सहयोग मांगे। यह आंदोलन सड़क से संसद तक चलना चाहिए। चौधरी नरेश टिकैत ने आम आदमी पार्टी सांसद संजय सिह से कहा कि अब किसान आंदोलन को मांग पूरी होने तक जारी रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार को किसानों की नाराजगी का खामियाजा भुगतना पड़ेगा। इस अवसर पर बड़ी संख्या में भाकियू व आप कार्यकर्ता भी मौजूद रहे।

बाद मे पत्रकारों से वार्ता में उन्होंने प्रधानमंत्री द्वारा किसानों को आंदोलनजीवी कहे जाने पर कहा कि आंदोलनजीवी महात्मा गांधी थे, आंदोलन जीवी चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत थे, आंदोलनजीवी सरदार पटेल थे, आंदोलनजीवी सरदार भगत सिंह थे, यह संसद हमे आंदोलनजीवियों के बलिदान से ही मिली है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी को इस कथन के लिए माफी मांगनी चाहिए।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा