बैंकों के जरिए ठगी करने वाला साइबर अपराधी गिरोह पकडा

 मुजफ्फरनगर । सिविल लाइन पुलिस ने बैंकों व एटीएम के माध्यम से लोगों को ठगकर पैसे ऐंठने वाले तीन साइबर  अपराधियों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से पासबुक, एटीएम, चैकबुक, आधार कार्ड, मोबाईल फोन एवं नकदी बरामद की है।

आज पत्रकारों को यह जानकारी देते हुए एसपी सिटी विजय वर्गीज ने  बताया कि थाना सिविल लाइन पुलिस द्वारा एटीएम और बैंक खातों के साथ धोखाधडी कर पैसों का गबन करने वाले तीन शातिर साइबर क्राइम अपराधियों को दौराने चैकिंग विकास भवन एटीएम के पास से गिरफ्तार  किया गया। अभियुक्तगण के कब्जे से  भारी मात्रा में पासबुक, एटीएम, चैकबुक, आधार कार्ड, मोबाईल फोन एवं नकदी  बरामद की गयी है।   गिरफ्तार अभियुक्तगण का नाम व पता अफरोज उर्फ अरमान पुत्र अफसर खान निवासी पीपल राणा थाना भोजीपुरा जनपद बरेली, मौ. यासीन उर्फ शानू पुत्र इसरायल निवासी मझुआ गंगापुर थाना भोजीपुरा जनपद बरेली तथा सुमित पुत्र राजाराज निवासी मलपुर थाना भौता जनपद बरेली बताए गए हैं। उनके कब्जे से   विभिन्न बैंकों की - 17 पासबुक,   विभिन्न बैंकों के   21 एटीएम कार्ड    विभिन्न बैंकों की  11 चैकबुक,   अलग-अलग व्यक्तियों के  11 आधार कार्ड,  अलग-अलग व्यक्तियों के 47 फोटो,  बैंको में खाता खोलने वाले 10 खाली फार्म, आईफोन, सैमसंग, ओप्पों आदि के पांच मोबाईल फोन, और 30,000 रूपये नगद बरामद किए हैं।

 पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में अभियुक्तों ने  बताया  कि ये लोग फर्जी तरीके से आधारकार्ड बनाकर बैंकों में खाता खुलवाने के बाद सीधे-साधे व्यक्तियों को किसी कम्पनी की स्कीम बताकर या बैंकों के मैनेजर बनकर फोन करते है और बहला-फुसलाकर उनके बैंक खातों की जानकारी प्राप्त करने के बाद बैंकों के ओटीपी को प्राप्त कर फर्जी खाते में पैसें ट्रान्सफर  करते हैं तथा यह पैसा एटीएम के माध्यम एवं चैकों के माध्यम से निकल लेते हैे । इसके अलावा वे  सीधे-साधे व्यक्तियों के एटीएम कार्ड बदलकर भी पैसे ट्रान्सफर करके निकाल लेते हैं। पुलिस उनसे अभी तक किए गए बैंक धोखाधडी के मामलों का पता लगाने का प्रयास कर रही है।


Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा