श्रीराम काॅलेज आॅफ लाॅ में बाल अधिकारों पर चर्चा



मुजफ्फरनगर । श्री राम काॅलेज आफ लाॅ, मुजफ्फरनगर में विधिक सेवा प्राधिकरण, मुजफ्फरनगर और श्री राम काॅलेज आफ लाॅ के द्वारा संयुक्त रूप से एक विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया जिसका विषय The Child Rights in India with special emphesis of POCSO Act 2012 रहा। इस अवसर पर मुख्य अतिथि सलोनी रस्तोगी, सिविल जज एवं सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मुजफ्फरनगर तथा विशिष्ठ अतिथि डाॅ रविन्द्र प्रताप सिंह, प्राचार्य, चैधरी हरचन्द सिंह काॅलेज आफ लाॅ, खुर्जा, डाॅ0 आदित्य गौतम, निदेशक, श्री राम काॅलेज, मुजफ्फरनगर एवं डाॅ0 प्रेरणा मित्तल, प्राचार्य, श्रीराम काॅलेज, मुजफ्फरनगर उपस्थित रहे। मुख्य अतिथि सलोनी रस्तोगी व अन्य अतिथियों ने दीप प्रवज्जलित कर कार्यक्रम का आरम्भ किया।

कार्यक्रम के आरम्भ में समस्त अतिथियों को फूलो का गुलदस्ता देकर सभागार में स्वागत किया गया। मंच का संचालन प्रवक्ता आँचल अग्रवाल द्वारा किया गया। विषय के संबंध में छात्र शशांक अग्रवाल ने पी0पी0टी0 प्रजेन्टेशन के माध्यम से बाल अपराधों के कारण और निवारण पर प्रकाश डाला। इसके बाद छात्र आर्यन राठी ने कहा कि आज के समाज में बाल उत्पीडन की समस्या बढ़ गयी है। इसके लिए ही भारत में 2012 में पोक्सो अधिनियम पारित किया गया था छात्रा समरीन ने कहा कि आज के बालक कल के नागरिक है उन्ही के कंधों पर कल के भारत का भार है। छात्रा तबस्सुम ने कहा कि लोकतंत्र को विश्व की सबसे अच्छी शासन प्रणाली के रूप में जाना जाता है। छात्र जुनैद ने अपने विचार प्रकट करते हुए कहा कि बच्चों के प्रति अपराध ही नही वरन बच्चों के द्वारा भी अपराध बढ़ रहे है। दिव्या सिंघल ने नारी के अस्तित्व को आज के परिप्रेक्ष्य में बताते हुऐ कहा कि नारी को आज भी हर एक क्षेत्र में समानता का अधिकार नही मिल पाया है कुछ कानून है जो आज भी बदले जाने आवश्यक है।

कार्यक्रम की मुख्य अतिथि सलोनी रस्तोगी, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मुजफ्फरनगर ने भारतीय संविधान के अनुच्छेद 14, 15 (3) एवं 21 के अन्र्तगत बच्चों के संरक्षण तथा पोक्सो अधिनियम 2012 के विषय में बताते हुए कहा कि शिक्षा एवं नैतिकता की कमी से बच्चों का शोषण बढ़ रहा है। अपराध के लिए समुचित और समयबद्ध दण्ड का प्राविधान न्यायप्रिय और लोकतान्त्रिक समाज का लक्षण है।

डा0 आदित्य गौतम निदेशक, श्रीराम काॅलेज ने कहा कि बच्चे राष्ट्र की धरोहर है बच्चों के साथ होने वाले अपराध उनके जीवन दषा को खराब कर देते है। जिससे उनके व्यक्तित्व का पूर्ण विकास नही हो पाता। माता पिता बच्चों को अधिक से अधिक भावनात्मक एवं मानसिक सहयोग देकर उन्हे अपराध का शिकार होने से बचा सकते है।

श्रीराम काॅलेज आफ लाॅ की प्रवक्ता आँचल अग्रवाल ने कहा कि बच्चे राष्ट्र की धरोहर है किसी भी देश की असली सम्पत्ति वहाँ के बच्चे तथा युवा ही है। बच्चों के विकास से न केवल उनका अपितु समाज तथा राष्ट्र का भविष्य जुड़ा है। बालको की उपेक्षा से समाज को नुकसान है बालकों के विकास को ध्यान में रखते हुए उन्हे कानून मे अधिकार दिये गये है भविष्य में सुखद समाज के निर्माण के लिए बच्चों के अधिकारो की रक्षा अति आवश्यक है इसी कारण प्रगतिशील समाज बच्चों के अधिकारो के लिए जागरूक रहता है।

कार्यक्रम के अन्त में डा0 आदित्य गौतम एंव डा0 प्रेरणा मित्तल द्वारा मुख्य अतिथि सलोनी रस्तोगी को प्रतीक चिन्ह भेट किया गया। श्री राम काॅलेज आॅफ लाॅ की विभागाध्यक्षा पूनम शर्मा के द्वारा समस्त अतिथियों का आभार व्यक्त किया गया। इस अवसर प्रवक्तागण संजीव कुमार, सोनिया गौड, अनुज, मौ0 आमिर, कोमल मिश्रा व त्रिलोक का सराहनीय योगदान रहा ।

Comments

Popular posts from this blog

राज्य कर्मचारियों को भी मिलेगा बढा महंगाई भत्ता

डीएम सेल्वा कुमारी जे का तबादला, मनीष बंसल होंगे नये डीएम!

रालोद और भाकियू के नाम पर हुडदंग करने वालों पर लाठीचार्ज, पांच गिरफ्तार