खतौली में बच्चों को छोड़ साधु बनकर हरिद्वार में रह रहा था, आठ साल बाद दबोचा

 मेरठ। ख्तौली में अपने बच्चों को छोडकर साधु बनकर हरिद्वार में रह रहे महिला के अपहरण के आरोपी को आठ साल बाद सोमवार को गिरफ्तार कऱ लिया गया। पुलिस ने उसे पकड़कर जेल भेज दिया है। अगवा करने के बाद आरोपित गिरफ्तार हुआ था लेकिन फिर वह जमानत पर छूट गया था। कोर्ट से गिरफ्तारी वारंट जारी होने के बाद से उसको पुलिस ने पकड़ लिया।

आठ साल पहले सोतीगंज के पास से कार सवार महिला को अगवा करने वाले आरोपित को पुलिस ने हरिद्वार से गिरफ्तार किया। पकड़ा गया आरोपित हरिद्वार में साधु बनकर छिपा हुआ था। 2013 में सोतीगंज के पास सहारनपुर के जनकपुरी निवासी आशीष गांधी की पत्नी निताशा कार में सवार थी। पत्नी को कार में छोड़कर आशीष सामान लेने दुकान पर गया था। तभी मवाना निवासी महेश ने गाड़ी समेत महिला को अगवा कर लिया। महिला ने खिड़की के शीशे से बाहर निकालकर शोर मचा दिया। पुलिस ने कार का शहर के अंदर ही एक किलोमीटर तक पीछा कर पकड़ लिया। जिसमें महिला को अगवा करने वाले महेश को भी गिरफ्तार कर लिया था। जमानत पर छूटने के बाद महेश मवाना से मकान बेचकर मुजफ्फरनगर के खतौली में रहने लगा था। वहां से बच्चों को छोड़कर हरिद्वार में छिप गया। जहां पर पिछले 4 साल से साधु बनकर लोगों को भ्रमित कर रहा था।

 

सदर बाजार पुलिस की टीम ने रविवार की रात महेश को हरिद्वार से गिरफ्तार कर लिया है। जिसे सोमवार को कोर्ट में पेश कर दिया गया है थाना प्रभारी दिनेश चंद ने बताया कि मुकदमा ट्रायल पर होने के बाद महेश कोर्ट में हाजिर नहीं हुआ। जिसके कारण पिछले काफी दिनों से महेश के वारंट जारी हो गए थे। इस मुकदमे में कई बार कोर्ट में सदर बाजार पुलिस को भी तलब किया जा चुका है।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा