सड़क सुरक्षा के नियमों की जागृति हेतु चैधरी छोटू राम कॉलेज मुजफ्फरनगर में विचार गोष्ठी संपन्न

 


मुजफ्फरनगर।  राज्य सड़क सुरक्षा माह  में सड़क सुरक्षा संबंधी  नियमों की जन जागृति हेतु आज एक विचार गोष्ठी का आयोजन चैधरी छोटू राम कॉलेज मुजफ्फरनगर मैं किया गया जिसमें कॉलेज की राष्ट्रीय सेवा योजना की तीनों इकाइयों के स्वयंसेवक सेविकाओं तथा रोवर रेंजर ने सक्रिय भागीदारी की। इस गोष्ठी के अवसर पर कॉलेज के प्राचार्य प्रोफेसर नरेश मलिक जी ने कि किस प्रकार छोटी सी असावधानी से बहुत बड़ी दुर्घटना हो जाती है जिससे न केवल दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति ही बल्कि परिवार के अन्य सदस्य भी परिवार के अन्य सदस्य भी अनेकों समस्याओं से रूबरू होते हैं उन्होंने बताया की सीट बेल्ट वह हेलमेट से काफी हद तक हम अपने को विपरीत परिस्थितियों में भी अपने को सुरक्षित रख सकते हैं गाड़ी की गति सीमा के संदर्भ में उन्होंने प्रकाश डालते हुए अवगत कराया कि की पेपराजीन गैस किस प्रकार फेफड़ों के कैंसर का कारण बनती है तथा वायु प्रदूषण को बढ़ाती है। उन्होंने विचार गोष्ठी में सभी प्रतिभाग करने बालों को वाहन चलाते समय स्टंटध् विशेष करतब ने दिखाने की सलाह दी। किस विचार गोष्ठी में कॉलेज के राष्ट्रीय सेवा योजना की द्वितीय इकाई के कार्यक्रम अधिकारी डॉ आई डी शर्मा ने सड़क सुरक्षा के मैस्कट डिजाइन के लिए ऑनलाइन प्रतियोगिता के संबंध में जानकारी उपलब्ध कराई तथा अधिक से अधिक स्वयंसेवक सेविकाओं को इस प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने की सलाह दी तथा आवश्यक मार्गदर्शन का वादा किया व यातायात के नियमों के बारे में विभिन्न पोस्टरों के माध्यम से उपस्थित स्वयंसेवक सेविकाओं को रूबरू कराकर विचार गोष्ठी को जीवंत करने का प्रयास किया है तथा घर से चलते समय बहन को ले जाते समय किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए पर प्रकाश डाला। जिनमें गाड़ी के सभी टायरों में उचित प्रेशर का होना, ईंधन, क्लच व ब्रेक आदि का  ठीक प्रकार से कामकरना, निद्रा व मद्यपान की  स्थिति में कभी भी गाड़ी नहीं चलाना आदि पर विशेष ध्यान आकर्षित किया। उन्होंने बताया की हमें सीट बेल्ट वह हेलमेट का प्रयोग अपनी जीवन रक्षा के लिए अवश्य ही करना चाहिए न की ट्रैफिक पुलिस से बचने के लिए क्योंकि ट्रैफिक पुलिस भी आपके सहयोग के लिए ही सदैव तत्पर रहती है। उन्होंने मुख्य रूप से सभी का इस ओर  ध्यान आकर्षित किया कि हमें वाहन को अपने कंट्रोल में रखते हुए वाहन चलाना चाहिए न कि अपने को गाड़ी के कंट्रोल में रखते हुए। आज की इस विचार गोष्ठी में शामिल होने के 

 लिए अनेक स्वयंसेवक व सेविकाओं ने यातायात के नियमों से संबंधित पोस्टर तैयार किए तथा अपने पोस्टरों से सभी का ध्यान आकर्षित किया जिनमें अदिति चैधरी, अपूर्वा चैधरी, प्राची शर्मा ,श्रेया सिंघल, राणा कुमार, वैशाली त्यागी, वैशाली, कनक  व झनक आदि की भूमिका मुख्य रही। विचार गोष्ठी के अंत में रोबरस लीडर डॉ हरिओम शर्मा ने धन्यवाद ज्ञापित किया कार्यक्रम अधिकारी डॉ जॉनी सिंह व डॉ अभिषेक सिंह का

विचार गोष्ठी को सफल बनाने में बहुमूल्य योगदान रहा।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा