खुलेगा ताला तो ऐसे होगी प्राइमरी स्कूलों में पढ़ाई


लखनऊ । एक मार्च को प्राइमरी स्कूल खुलने के साथ ही प्रेरणा ज्ञानोत्सव का आयोजन किया जाएगा। लगातार 100 दिन यह आयोजन चलेगा और इसके बाद इसके आकलन के लिए परीक्षा का आयोजन किया जाएगा। बेसिक शिक्षा विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने सभी जिलाधिकारियों को आदेश जारी कर दिया है।

स्कूलों में ऑफलाइन कक्षाओं के साथ ई-पाठशाला भी जारी रहेगी। व्हाट्सएप ग्रुप में सोमवार, बुधवार व शुक्रवार को कक्षावार-विषयवार सामग्री शिक्षकों को भेजी जाएगी। इसे शिक्षक विद्यार्थियों के साथ साझा करेंगे। दूरदर्शन पर चल रहे कार्यक्रम को देखने के लिए भी अभिभावकों को प्रेरित किया जाएगा। स्कूल खुलने के बाद समृद्ध हस्तपुस्तिका पर आधारित रैमीडियल कक्षाएं चलाई जाएंगी। कक्षा दो व तीन के लिए भाषा में अभ्यास पुस्तिकाएं भी विकसित की गई हैं। ये भी जल्द ही जिलों में पहुंचेंगी।

100 दिन पूरे होने पर सैट 3 (स्कूल असेसमेंट टेस्ट) का आयोजन किया जाएगा और रिपोर्ट कार्ड दिया जाएगा। हर स्कूल से लगे गांव या मोहल्ला में शिक्षा चौपाल का आयोजन किया जाएगा और लोगों को जागरूक किया जाएगा। प्रेरणा ज्ञानोत्सव पर जिला अधिकारी की अध्यक्षता में बनी टॉस्क फोर्स व ब्लॉक स्तरीय टॉस्क फोर्स भी इसमें भाग लेगी। टॉस्क फोर्स जिला या ब्लॉकस्तरीय न्यूनतम 5-5 शिक्षा चौपाल में भाग लेगी। इस चौपाल में विद्यार्थियों के सीखने-सिखाने की प्रक्रिया, अभिभावकों को बच्चों को पढ़ाने के लिए प्रेरित करना, उनकी जिज्ञासाओं का समाधान करना होगा। 

इस आयोजन के तहत कक्षा एक से पांच तक के सभी विद्यार्थियों को न्यूनतम सीखने के लक्ष्यों को प्राप्त करना होगा। मसलन कक्षा एक के बच्चे प्रेरणा सूची के न्यूनतम पांच शब्द सही से पहचानते हैं या कक्षा दो के छात्र 20 शब्द प्रति मिनट के प्रवाह से पढ़ लेते हैं या फिर कक्षा 4 के विद्यार्थी गुणा के 75 फीसदी प्रश्नों को सही हल कर लेते हैं। ये प्रेरणा तालिका राज्य स्तर पर तैयारी की गई है।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा