खेल प्रतियोगिताओं में खिलाड़ियों ने दिखाया दम






मुज़फ्फरनगर। मुज़फ्फरनगर के आदर्श खेल ग्राम बहादरपुर मे स्पोर्ट्सः ए वे ऑफ लाइफ एवं आई एम टी गाजियाबाद के संयुक्त तत्वाधान मे चल रहे खेल सप्ताह का समापन किया गया। जिसमें स्पोर्ट्सः ए वे ऑफ लाइफ के स्वयंसेवकों ने विशेष शिविर के दौरान खेल सप्ताह समापन में अपनी सहभागिता दिखाते हुए शिविर का पांचवा दिवस पूर्ण किया। खेल सप्ताह समापन में आज के मुख्य अतिथि स्पोर्ट्स ए वे ऑफ लाइफ एवं स्पोटर्स अनुसंधान केन्द्र आई0एम0टी0 के अध्यक्ष डाॅ0 कनिष्क पाण्डेय, विशिष्ट अतिथि अर्जुन अवार्डी पहलवान सतपाल यादव व संजीव कुमार, अंतर्राष्ट्रीय पहलवान सुभाष वर्मा, जयपुरिया ग्रुप के निदेशक हरीश संधुजा एवं फाइनेंस डायरेक्टर विक्रम अग्रवाल आदि मौजूद रहे । कार्यक्रम की अध्यक्षता स्पोटर्सः ए वे ऑफ लाइफ के संरक्षक एवं श्रीराम ग्रुप आफ कॉलेज  के चेयरमैन डा0 एस0सी0कुलश्रेष्ठ ने की।

ग्राम बहादरपुर में चल रहे खेल सप्ताह के अंतिम चरण के परिणामों में 100 मीटर बालिकाओं की दौड में 13-15 वर्षीय बालिकाओं में प्रथम स्थान पर तनु, दूसरे  स्थान पर आशु तथा तृतीय स्थान पर एकता रही। वहीं 200 मीटर बालक वर्ग की दौड़ में प्रथम स्थान पर अभिषेक, दूसरा  स्थान प्रियांशु और तृतीय स्थान पर विशाल मिथारिया रहे। इसके अतिरिक्त गोला फेंक बालिका वर्ग में प्रथम स्थान पर सिया, द्वितीय स्थान यस तथा तृतीय स्थान पर श्रेया रही और लंबी कूद में 15-18 बालक वर्ग में प्रथम स्थान पर विराट, दूसरे स्थान पर प्रिंस तोमर तथा तृतीय स्थान पर अमन रहा। वही बालिकाओं में प्रथम स्थान पर आशु, दूसरे पर सोनिया तथा तृतीय स्थान पर फरहाना रही। इसी के साथ वॉलीबॉल प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर सन्नी की टीम विजेता रही।

इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डाॅ0 कनिष्क पांडेय ने पूरे सप्ताह के खेल की रूपरेखा बताई और कहा कि हमें गांव के उस गरीब से गरीब बच्चे का भविष्य बनाना है जो प्रतिभावान है। हम गांव के सभी बच्चों में प्रतिभा को खोज कर उन को उच्चतम स्तर तक पहुंचाएंगे और इसी के साथ उन्होंने यह भी  बताया कि हमें यह भी नहीं भूलना चाहिए कि मानव-जीवन में अनेक प्रकार की परेशानियाँ और तनाव है, लोग विभिन्न प्रकार की चिंताओं से घिरे रहते हैं, लेकिन खेल-कूद हमें इन परेशानियों, तनावों एवं चिंताओं से मुक्त कर देती है। खेल-कूद को जीवन का आवश्यक अंग मानने वाले जीवन में आने वाली समस्याओं का सामना करने में सक्षम होते हैं। 

इसके पश्चात कार्यक्रम में उपस्थित विशिष्ट अतिथि अर्जुन अवार्डी  पहलवान सतपाल यादव ने स्वयंसेवकों एवं खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए कहा की बच्चे के विकास के लिए खेल खेलना काफी महत्वपूर्ण होता है। खेल खेलने का सबसे अच्छा तरीका आपके बच्चे को बाहर लेकर जाइए और खुले मैदान में उसे खेलना सिखाए। खुले मैदान में खेलने से बच्चों को भूख ज्यादा लगती है और उनके शरीर का विकास अच्छा होता है। खुले मैदान में आपके बच्चे क्रिकेट, कंचे, फुटबॉल या फिर हॉकी जैसे खेल खेल सकते हैं । लड़कियों के लिए भी आप कबड्डी, खो-खो, बॉस्केटबॉल जैसे खेल का नियोजन कर सकते हैं। छोटे बच्चों को बचपन से खेलना सिखाने से उनकी शरीर की प्रगति पर अलग से ध्यान देना नहीं पड़ेगा। मिट्टी, पानी और ताजी हवा में खेलने से बच्चे प्रकृति के नजदीक पहुंच पाते हैं और यही उनके लिए सबसे अच्छा है। स्वयसंवको द्धारा  ग्राम में आयोजित खेल सप्ताह के समापन में आवश्यक व्यवस्थाऐं सुनिश्चित करने में अपना योगदान दिया गया। 

कार्यक्रम को सफल बनाने में श्रीराम काॅलेज की प्राचार्य डा0 प्रेरणा मित्तल, कम्प्यूटर एप्लीकेशन की सहायक अध्यापिका नीतू सिंह, राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारी अंकित कुमार, शारीरिक शिक्षा विभाग के प्रवक्ता भूपेन्द्र कुमार, वाणिज्य विभाग प्रवक्ता पूजा चैधरी, खेल प्रशिक्षु सरिता, विपुल, हितेंद्र, तथा कोच दीपक, सनी, अमित एवं स्वयंसेवक मुकुल, जावेद, मनीष, अजय, अभय, रिया गोयल, हर्षसैनी, अमन त्यागी इत्यादि का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा