जिले की 170 बसों पर एनजीटी का आदेश भारी, कपिल देव अग्रवाल को सुनाई पीडा


मुजफ्फरनगर। एनजीटी के आदेश पर 1 जनवरी 2021 से जनपद में 170 निजी बसों के पहिये थम जायेंगे।

इस समस्या के समाधान के लिए निजी बस मालिकों ने आज भाजपा नेता संजय अग्रवाल के साथ प्रदेश के राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार कपिल देव अग्रवाल से उनके आवास पर पहुंचकर मुलाकात की और अपनी समस्या से अवगत कराया। कपिल देव ने परिवहन मंत्री से वार्ता करते हुए मुजफ्फरनगर की इस समस्या की जानकारी दी और विभागीय स्तर पर समाधान के लिए भी अनुरोध किया। वहीं इन बस मालिकों ने अब सोमवार को लखनऊ कूच की तैयारी कर ली है।

जनपद मुजफ्फरनगर के एनसीआर में आने के साथ ही यहां पर राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण एनजीटी के आदेश भी लागू हो गये हैं। एनजीटी ने एनसीआर क्षेत्र में 10 साल पुराने डीजल वाहनों को अमान्य करने के आदेश जारी कर रखे हैं। इन वाहनों को सीएनजी में परिवर्तित करने के लिए एनजीटी द्वारा एक वर्ष का समय देने के साथ ही भारतीय पैट्रोलियम मंत्रालय को एनसीआर के जिलों में एक साल में ही सीएनजी प्रेशर पम्प स्थापित करने को भी कहा था। परिवहन विभाग एनजीटी के आदेशों का अनुपालन करने में जुटा हुआ है और पुराने डीजल वाहनों को फिटनेस प्रमाण पत्र इस साल नहीं दिया जायेगा। इसमें निजी बस मालिकों के सामने अपनी दस साल पुरानी बसों का संचालन कराने के लिए बड़ी समस्या पैदा हो गयी है। क्योंकि डीजल वाहन होने के कारण उनका फिटनेस प्रमाण पत्र इस साल नहीं बन पायेगा और जनपद में सीएनजी प्रेशर पम्प नहीं होने के कारण वह इसके सीएनजी में भी परिवर्तित नहीं करा सकते हैं।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा