राधेश्याम मित्तल की हत्या पर वैश्य समाज में रोष

 मुजफ्फरनगर । भोपा अड्डे पर हत्या के शिकार राधेश्याम मित्तल की हत्या की गुत्थी सुलझाने में जहां पुलिस जुटी है वहीं वैश्य समाज में इसे लेकर रोष है। घटना की सूचना पर राधेश्याम मित्तल का गोद लिया बेटा सागर मित्तल भी पहुँचा। सागर मित्तल पेशे से शिक्षक हैं जो ड्यूटी पर थे। सूचना मिलते ही सागर जिला अस्पताल पहुंचा। क्राइम ब्रांच एसएसआई सुनील शर्मा ने सागर से पूछताछ की। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी भेज दिया।

मोरना क्षेत्र के रहने वाले राधेश्याम पुत्र  शिवदत्त अर्धनारीश्वर धाम ट्रस्ट गाँव इलाहाबास शुक्रतीर्थ  के संस्थापक भी रहे हैं। राधेश्याम मित्तल मोरना के वैश्य परिवार के प्रतिष्ठित व्यक्ति थे ओर खेती भी करते थे। राधेश्याम ने अपनी संतान न होने के कारण भाई के पुत्र को गोद लिया हुआ था। मुजफ्फरनगर के सदर बाजार स्थित स्थाई निवास से रहकर मोरना में खेती-बाड़ी वह ट्रस्ट की देखभाल करते थे। आज मोरना से प्राइवेट बस वापसी में राधेश्याम को अज्ञात युवकों द्वारा गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया गया। बस ड्राइवर द्वारा पुलिस को सूचना दी गयी जिससे हड़कम्प मच गया। मौके पर अस्पताल में एसएसपी व सीओ नई मंडी सहित कोतवाली पुलिस भी पहुंचकर जांच पड़ताल में जुट गई वही मौके पर परिजनों व ट्रस्ट के लोगों का जमावड़ा भी लगने लगा।


Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा